ताज़ा खबर
 

नमाज के बाद बना रहे थे CAA के विरोध का प्लान, कदम बढ़ाते ही 15 उलेमाओं को पकड़ ले गई पुलिस

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस 15 उलेमाओं को हिरासत में लेकर थाने में ले जाने लगी। इसके बाद भीड़ भी पुलिस वैन के पीछे-पीछे चलने लगी। पुलिस ने उलेमाओं को मस्जिद से 150 मीटर ले जाकर छोड़ दिया।

नागरिकता कानून के खिलाफ मार्च निकालने वालों को पुलिस ने हिरासत में लिया, प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस)

मुंबई के नागपाड़ा थाने में गिरफ्तारी देने जा रहे 15 उलेमाओं (इस्लामिक विद्वानों) को पुलिस ने गुरुवार को मदनपुरा स्थित सुन्नी बादली मस्जिद से बाहर निकलने के तुरंत बाद हिरासत में ले लिया। ये लोग संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में शांतिपूर्ण मार्च निकालकर गिरफ्तारी देने की योजना बनाए थे। दोपहर करीब दो बजे नमाज के बाद मार्च शुरू करते ही उनको पकड़ लिया गया।

आसपास के विभिन्न थानों के दो सौ से ज्यादा पुलिसकर्मी और राज्य की रिजर्व पुलिस फोर्स ने उलेमाओं को रोकने के लिए बैरिकेड बना ली थी। इससे एक ही जगह काफी बड़ी संख्या में भीड़ जुट गई। वहां उन लोगों ने भारतीय झंडे लेकर नागरिकता कानून के खिलाफ बैनर लेकर नारेबाजी करनी शुरू कर दी।

Hindi News Today, 20 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस 15 उलेमाओं को हिरासत में लेकर थाने में ले जाने लगी। इसके बाद भीड़ भी पुलिस वैन के पीछे-पीछे चलने लगी। पुलिस ने उलेमाओं को मस्जिद से 150 मीटर ले जाकर छोड़ दिया। इसके बाद उन्हें आईपीसी की धारा 188 के तहत नोटिस दिया गया।

रजा एकेडमी के महासचिव सैयद मोइनउद्दीन अशरफ ने कहा, “हमने पहले ही पुलिस को अपने शांतिपूर्ण मार्च निकालने की सूचना दे दी थी, लेकिन नागपाड़ा पुलिस ने हमारे उलेमाओं को हिरासत में लिया और वैन में बैठाया। इससे हड़कंप की स्थिति बन गई।”  सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा ने कहा, “कोई गिरफ्तार नहीं किया गया था, उन्हें केवल हिरासत में लिया गया था और बाद में छोड़ दिया गया। हिरासत में इसलिए लिया गया था क्योंकि वे बिना अनुमति के मार्च निकाल रहे थे।”

Next Stories
1 ABVP कार्यकर्ताओं ने CAA के समर्थन में निकाला मार्च, तीन की जगह चार पट्टियों वाला पकड़ा था झंडा, हुआ विवाद
ये पढ़ा क्या?
X