ताज़ा खबर
 

गुजरात सरकार का निर्देश- बुलेटप्रूफ जैकेट पहनकर अमरनाथ यात्रा पर जाएं श्रद्धालु

अखिल गुजरात टूरिस्ट व्हीकल ऑपरेटर्स फेडरेशन के अध्यक्ष हरि पटेल का कहना है, "हम कैसे बुलेट प्रूफ जैकेट खरीद सकते हैं, जो आम नागरिकों के लिए आसानी से नहीं मिलती है। निजी टैक्सियों, ट्रेन और हवाई जहाज से आने वाले यात्रियों पर यह नया नियम लागू नहीं होता है। हम इसके लिए तैयार हैं। लेकिन सरकार को इस बाबत थोड़ा और सोचना चाहिए था।"

सांकेतिक तस्वीर।

अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले गुजरात के श्रद्धालुओं को इस साल बुलेट प्रूफ जैकेट पहनकर जाना होगा। श्रद्धालुओं को इसके लिए बुलेट प्रूफ जैकेट खरीदनी पड़ेगी या उसका किराया चुकाना पड़ेगा। राज्य सरकार ने हाल ही में दिशा-निर्देश जारी करते हुए बसों से यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट पहनना अनिवार्य कर दिया है। सरकार ने यह फैसला पूर्व में हुई अप्रिय घटनाओं को ध्यान में रखते हुए लिया है। दिशा-निर्देश में इसी के साथ यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि ड्राइवर की उम्र 50 साल से कम हो। आपको बता दें कि कुछ महीने पहले जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में श्रद्धालुओं से भरी बस पर आतंकियों ने हमला बोल दिया था, जिसमें गुजरात के भी लोग थे।

गुरुवार को एक अंग्रेजी अखबार से इस संबंध में ट्रांसपोर्ट कमिश्नर आर.एम.जाधव ने बात की। उन्होंने कहा, “श्रद्धालुओं को बुलेटप्रूफ जैकेट मुहैया कराने के निर्देश हमें राज्य सरकार से मिले हैं।” हालांकि, बस ऑपरेटरों का इस बाबत कहना है कि जैकेट खरीदना उनकी जेब पर अधिक बोझ डालेगा। वडोदरा के एक टूर ऑपरेटर ने बताया, “अगर हम दिशा-निर्देश का पालन नहीं करेंगे तो राज्य सरकार हमें यात्रा पर लोगों को ले जाने के लिए परमिट नहीं देगी। इसमें कागजी कार्रवाई से लेकर हमारे लिए ढेर सारी समस्याएं शामिल हैं।”

बड़ौदा टूर एंड ट्रैवल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सिद्दीकी गांधी ने कहा, “चूंकि हम बुलेट प्रूफ जैकेट का खर्च नहीं उठा सकते, लिहाजा हमें श्रद्धालुओं से उसे खरीदने के लिए कहना पड़ेगा। इस जैकेट की कीमत तकरीबन 12 हजार रुपए के आसपास है।” गुजरात से हर साल तकरीबन पांच से सात हजार लोग पंजीकरण कराकर बाबा बर्फानी के दर्शन करने के लिए जाते हैं। वहीं, बगैर पंजीकरण के राज्य से जाने वालों की संख्या 35 हजार के आसपास आंकी गई है। टूर ऑपरेटर्स आमतौर पर यात्रा पर जाने वालों से 10 हजार रुपए वसूलते हैं। गांधी इस बारे में बताते हैं, “जैकेट खरीदने के लिए अगर हम श्रद्धालुओं को बोलेंगे तो यह उनकी जेब पर अधिक भार डालेगा।”

अखिल गुजरात टूरिस्ट व्हीकल ऑपरेटर्स फेडरेशन के अध्यक्ष हरि पटेल का कहना है, “हम कैसे बुलेट प्रूफ जैकेट खरीद सकते हैं, जो आम नागरिकों के लिए आसानी से नहीं मिलती है। निजी टैक्सियों, ट्रेन और हवाई जहाज से आने वाले यात्रियों पर यह नया नियम लागू नहीं होता है। हम इसके लिए तैयार हैं। लेकिन सरकार को इस बाबत थोड़ा और सोचना चाहिए था।” अमरनाथ यात्रा के लिए देश के तमाम हिस्सों से अब तक 60 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने एडवांस में पंजीकरण करा लिया है। बाबा बर्फानी की पवित्र गुफा के दर्शन के लिए होने वाली इस यात्रा की शुरुआत 28 जून से होगी। यह 28 अगस्त को समाप्त होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App