ताज़ा खबर
 

UP Bulandshahar Violence: राज्यपाल ने घटना पर जतायी नाराजगी, कहा- दोषी को सख्त सजा दी जाएगी

UP Bulandshahar Violence: हिंसा के दौरान मारे गए युवक सुमित के परिजनों का आरोप है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली से ही उसकी मौत हुई थी।

Bulandshahr violenceBulandshahr Violence: बुलंदशहर हिंसा के बाद मौके पर जांच करते पुलिस अधिकारी। (PTI Photo)

UP Bulandshahar Violence News: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी की अफवाह पर भड़की हिंसा को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज (चार दिसंबर) रात नौ बजे एक बैठक बुलाई है। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बैठक में सीएम के अलावा गृह सचिव, एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) व अन्य अधिकारी उपस्थित रहेंगे। बता दें कि स्याना में हिंसा की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) कर रही है। पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की हैं, जिनमें से एक गोकशी के मामले में दर्ज हुई है। वहीं, दूसरी एफआईआर हिंसा के मामले में दर्ज हुई है। एफआईआर में 27 लोग नामजद किए गए हैं, जबकि 50 से 60 अज्ञात लोगों को हिंसा का आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में 4 लोगों को हिरासत में लिया है।

एफआईआर में हिंदूवादी संगठनों के कुछ कार्यकर्ताओं के नाम भी हैं। हिंसा का कथित मुख्यारोपी भी बजरंग दल का नेता बताया जा रहा है। पुलिस ने चार आरोपियों को हिरासत में ले लिया है, जबकि आरोपियों की तलाश जारी है। बता दें कि सोमवार को स्याना में गोकशी की अफवाह पर भीड़ ने आक्रोश में हाईवे जाम करने की कोशिश की थी। बाद में भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा, जिस पर भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया। इस दौरान क्षेत्राधिकारी को भी चौकी में घुसकर जान बचानी पड़ी। जब वह चौकी में घुसे तो भीड़ ने उन्‍हें चौकी के एक कमरे में बंद करके चौकी में आग लगा दी थी।

भीड़ के हमले में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत हो गई। वहीं, फायरिंग में भीड़ में सुमित नाम के युवक की गोली लगने से जान चली गई। सीएम ने शहीद इंस्पेक्टर को परिजन को 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता और आश्रितों को पेंशन देने का ऐलान किया है। पुलिस ने भी शहीद इंस्पेक्टर के परिजनों की हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने बुलंदशहर हिंसा पर कड़ी नाराजगी जतायी है और दोषियों को सख्त सजा देने की बात कही है।

Live Blog

Highlights

    18:14 (IST)04 Dec 2018
    भाजपा ने कहा- बजरंग दल नहीं, पुलिस की फायरिंग में हुई इंस्पेक्टर की मौत!

    बुलंदशहर हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत में बजरंग दल के सदस्यों का नाम आने पर भाजपा ने सवाल खड़े किए हैं। यूपी की रोहनिया सीट से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने पीटीआई से बातचीत में दावा किया कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत पुलिस की गोली लगने से हुई है। उन्होंने कहा कि ये घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण थी। पुलिस ने उनकी हत्या जान-बूझकर नहीं की थी। मुझे संदेह है कि इंस्पेक्टर की मौत पुलिस की गोली से ही हुई है। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पत्थर जरूर फेंके हैं लेकिन गोलियां नहीं चलाई हैं। वे वहां पर गोलियों के साथ नहीं गए थे।

    17:40 (IST)04 Dec 2018
    हिंसा में मारे गए युवक सुमित के परिजनों को मिलेगा मुआवजा

    बुलंदशहर के डीएम ने हिंसा के दौरान मारे गए युवक सुमित के परिजनों को 5 लाख रुपए का मुअावजा देने का ऐलान किया है। इसके साथ ही एफआईआर में बतौर आरोपी दर्ज सुमिता का नाम हटाया जाएगा। हिंसा के दौरान सुमित की गोली  लगने से मौत हो गई थी।

    17:34 (IST)04 Dec 2018
    3 आरोपियों को 14 दिन की हिरासत में भेजा गया

    बुलंदशहर हिंसा के मामले में गिरफ्तार किए गए 3 आरोपियों को जिला अदालत ने 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया है। 

    17:05 (IST)04 Dec 2018
    राज्यपाल ने की घटना की निंदा

    उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने बुलंदशहर हिंसा की कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा कि वजह चाहे जो भी हो इस तरह की घटना की इजाजत नहीं दी जा सकती। मुझे उम्मीद है कि सच अगले 2 दिन में सामने आ जाएगा। घटना में दोषी पाए गए लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगाी। 

    16:42 (IST)04 Dec 2018
    साल 2015 में दादरी के बिसाहड़ा में हुई थी मोहम्मद अखलाक की हत्या

    बता दें कि मोहम्मद अखलाक की हत्या साल 2015 में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर कर दी गई थी। अखलाक की हत्या गोहत्या और गाय का मांस खाने की अफवाह के चलते की गई। शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार ही मोहम्मद अखलाक की हत्या वाले केस में प्रथम जांच अधिकारी थे।

    16:09 (IST)04 Dec 2018
    शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी ने लगाए गंभीर आरोप

    बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पत्नी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्हें साजिश के तहत निशाना बनाया गया। सुबोध कुमार को अखलाक हत्याकांड के बाद से लगातार धमकियां मिल रहीं थी।

    15:14 (IST)04 Dec 2018
    आरोपियों में से एक की मां ने बताई यह बात

    बुलंदशहर हिंसा के आरोपियों में से एक जीतेंद्र की मां रतन ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा- मैं उस वक्त घर पर नहीं थी। लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि 70 पुलिसकर्मी बगैर महिला पुलिस कर्मचारी के वहां आए थे और तोड़-फोड़ करने लगे थे। यहां तक कि उन्होंने मेरी बहू से मारपीट भी की थी।

    14:40 (IST)04 Dec 2018
    पश्चिमी उत्तर प्रदेश में माहौल बिगाड़ने की हो रहीं कोशिश

    बता दें कि पुलिस की खूफिया रिपोर्टों में पश्चिमी उत्तर प्रदेश को लेकर आशंका जतायी गई है। बताया जा रहा है कि 2019 लोकसभा चुनाव से पहले यहां माहौल बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है। 

    14:19 (IST)04 Dec 2018
    शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी बोलीं 'एक बार छू लेने दो, वो ठीक हो जाएंगे'

    शहीद सुबोध कुमार की मौत पर उनके परिजनों पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। शहीद इंस्पेक्टर की मौत पर उनकी पत्नी ने रोते हुए कहा कि उन्हें एक बार छू लेने दो, वो ठीक हो जाएंगे। उनकी ये बात सुनकर लोगों का दिल भर आया। पुलिस लाइन में राजकीय सलामी के बाद शहीद इंस्पेक्टर के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए उनके पैतृक गांव ले जाया गया है।  

    13:50 (IST)04 Dec 2018
    गोकशी के मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं

    पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि गोकशी के मामले की जांच की जा रही है। लेकिन अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

    13:49 (IST)04 Dec 2018
    आक्रोशित भीड़ ने कर दिया पथराव

    लाठीचार्ज से गुस्साए लोगों ने पुलिस पर ही हमला बोल दिया। इस दौरान गोली लगने से एक प्रदर्शनकारी युवक सुमित की मौत हो गई। जिसके बाद  गुस्साई भीड़ ने पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार पर हमला बोल दिया। घायल अवस्था में सुबोध कुमार को अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, सुबोध कुमार की मौत सिर में गोली लगने के चलते हुए।   

    13:47 (IST)04 Dec 2018
    गोकशी की अफवाह पर फैली थी हिंसा

    बता दें कि सोमवार को बुलंदशहर में हुई हिंसा गोकशी की एक अफवाह के बाद फैली थी। जिसके बाद नाराज लोगों ने हाइवे जाम करने का प्रयास किया था। पुलिस द्वारा समझाने के बाद भी जब प्रदर्शनकारी नहीं माने तो पुलिस ने भीड़ पर लाठी चार्ज कर दिया था। 

    13:40 (IST)04 Dec 2018
    हिंसा में मारे गए युवक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने की पुष्टि

    पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया है कि हिंसा के दौरान मारे गए युवक सुमित कुमार की मौत गोली लगने से हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई है। 

    13:28 (IST)04 Dec 2018
    पुलिस ने किसी हिंदूवादी संगठन के हिंसा में शामिल होने से किया इंकार

    एडीजी आनंद कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि बुलंदशहर हिंसा में अभी तक किसी संगठन का नाम सामने नहीं आया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी के किसी हिंदूवादी संगठन से जुड़े होने की फिलहाल पुष्टि नहीं की है। फिलहाल पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है।

    13:25 (IST)04 Dec 2018
    एडीजी आनंद कुमार कर रहे हैं प्रेस कॉन्फ्रेंस

    एडीजी आनंद कुमार बुलंदशहर हिंसा पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। एडीजी ने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण है और शहीद सुबोध कुमार का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

    13:20 (IST)04 Dec 2018
    मुख्य आरोपी बजरंग दल का जिला संयोजक!

    हिंसा के मामले में मुख्य आरोपी माना जा रहा योगेश राज, हिंदूवादी संगठन बजरंग दल का जिला संयोजक बताया जा रहा है। इसके अलावा कुछ और हिंदूवादी नेताओं के नाम एफआईआर में दर्ज हैं।

    13:13 (IST)04 Dec 2018
    शहीद इंस्पेक्टर को पुलिस लाइन में दी गई श्रद्धांजलि

    बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को पुलिस लाइन में श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान एसएसपी, डीएम समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। यहां से शहीद के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव भेज गया, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

    12:46 (IST)04 Dec 2018
    शहीद इंस्पेक्टर के परिजनों को दी जाएगी 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुुबोध कुमार सिंह के परिजनों को 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। इसमें से 40 लाख शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी और 10 लाख उनके माता-पिता को दिए जाएंगे। 

    12:34 (IST)04 Dec 2018
    शहीद पुलिस इंस्पेक्टर दादरी मॉब लिंचिंग केस के जांच अधिकारी रह चुके थे

    बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह, साल 2015 में दादरी में हुई मोहम्मद अखलाख के मॉब लिंचिंग केस के प्रथम जांच अधिकारी भी रह चुके थे। बता दें कि दादरी के बिसाहड़ा गांव में मोहम्मद अखलाख की गोहत्या और गोमांस खाने के आरोप में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

    12:18 (IST)04 Dec 2018
    इलाके में धारा 144 लागू

    बुलंदशहर में हिंसा के बाद प्रभावित इलाकों में एहतियातन धारा 144 लागू कर दी गई है। फिलहाल पुलिस ने हिंसा के मामले में 2 आरोपियों को हिरासत में लिया है। 

    12:00 (IST)04 Dec 2018
    हिंदूवादी संगठनों के नेताओं का नाम एफआईआर में

    पुलिस ने बुलंदशहर हिंसा के मामले में जो एफआईआर दर्ज की है, उसमें हिंदूवादी संगठनों बजरंग दल, विहिप आदि के कुछ नेताओं का नाम शामिल किया गया है। घटना का मुख्य आरोपी भी बजरंग दल का जिला संयोजक बताया जा रहा है। 

    11:58 (IST)04 Dec 2018
    एसआईटी करेगी हिंसा की जांच

    बुलंदशहर हिंसा की जांच स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम को सौंप दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मामले की जल्द जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

    11:56 (IST)04 Dec 2018
    हिंसा के दौरान मारे गए युवक के परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

    बुलंदशहर हिंसा के दौरान जान गंवाने वाले युवक सुमित कुमार के परिजनों का आरोप है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली से ही सुमित की जान गई! मामले की जांच चल रही है।

    Next Stories
    1 बुलंदशहर हिंसा: दो हिरासत में, बजरंग दल, विहिप, भाजयुमो कार्यकर्ता समेत 87 के खिलाफ FIR
    2 उत्तराखंड: गायों ने दूध देना बंद किया तो गड्ढे में धकेल कर भूखा मरने छोड़ देते हैं लोग
    3 कुमार सानू बोले- मैं अब बीजेपी में नहीं, बंगाल की रथयात्रा में नहीं होंगे शामिल
    ये पढ़ा क्या?
    X