ताज़ा खबर
 

बुलंदशहर हिंसा: आप सांसद बोले- यूपी को तालिबान बनाने की कोशिश की जा रही

आप नेता ने आगे कहा, ''कहीं भी कोई भी इकट्ठा होकर किसी को मार देता है चाहे वह पुलिस अफसर गांव की शांति बहाली के लिए ही क्यों न गया हो। हां लेकिन उनका अपराध भी बड़ा था उनका अपराध यह था कि अखलाक के मामले में बड़ी ही ईमानदारी के साथ उन्होंने जांच की थी। उनका अपराध या था कि उन्होंने पूरे जीवन बड़ी ही ईमानदारी के साथ ड्यूटी की और जहां भी रहे लोगों की सुरक्षा के लिए पूरी ईमानदारी से काम करते रहे।

दुखी परिवार के साथ आप नेता संजय सिंह।

बुलंदशहर हिंसा मामले पर सियासत गरमाने लगी है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने मंगलवार (4 दिसंबर) को हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के पैतृक गांव एटा में जाकर दुखी परिवार को सांत्वना दी और सूबे की भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर जमकर निशाना साधा। पत्रकारों से बात करते हुए संजय सिंह ने कहा, ”यह संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है एक ऐसा जांबाज पुलिस अफसर जिन्होंने लोगों की रक्षा के लिए अपनी जान गवा दी, मैं अगर कहूं कि उनकी जान ले ली गई तो कतई गलत नहीं होगा क्योंकि जो तथ्य अभी तक सामने आए हैं उन्हें देखते हुए यह एक सुनियोजित हत्या का मामला प्रतीत होता है क्योंकि जिस प्रकार से स्थानीय भारतीय जनता पार्टी के विधायक इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी बड़ी बेशर्मी की हद दिखाते हुए कह रहे हैं कि शहीद सुबोध सिंह जी की मृत्यु हार्ट अटैक से हुई यह बहुत शर्मनाक बात है। मैं तो यह मानता हूं कि आज उत्तर प्रदेश में यह घटना हुई है.. योगी का शासन नहीं चल रहा है.. यहां भारतीय जनता पार्टी के गुंडों का शासन चल रहा है और इस तरह की गुंडागर्दी के लिए किसी भी सभ्य समाज में छूट नहीं होना चाहिए लेकिन आज उत्तर प्रदेश को तालिबान बनाने की कोशिश की जा रही है।

आप नेता ने आगे कहा, ”कहीं भी कोई भी इकट्ठा होकर किसी को मार देता है चाहे वह पुलिस अफसर गांव की शांति बहाली के लिए ही क्यों न गया हो। हां लेकिन उनका अपराध भी बड़ा था उनका अपराध यह था कि अखलाक के मामले में बड़ी ही ईमानदारी के साथ उन्होंने जांच की थी। उनका अपराध या था कि उन्होंने पूरे जीवन बड़ी ही ईमानदारी के साथ ड्यूटी की और जहां भी रहे लोगों की सुरक्षा के लिए पूरी ईमानदारी से काम करते रहे। उसी की यह सजा उनको मिली है। मैं उनके गांव आया हूं.. जिस प्रकार से उनके बेटे अभिषेक व अन्य लोगों से उनके परिवार के बारे में जानकारी मिली है.. उसके बाद भी स्थानीय भाजपा के सांसद व विधायक जिस प्रकार का बयान दे रहे हैं, उससे तो साफ होता है कि भाजपा ने गुंडों की फौज बना रखी है। जिस परिवार का बेटा ईमानदारी से ड्यूटी करते हुए शहीद हो जाए और शहीद के पिता भी ईमानदारी के साथ पुलिस की ड्यूटी करते हुए शहीद हो जाएं.. इससे बड़ा क्या सबूत चाहिए ईमानदारी का?”

संजय सिंह ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा, ”यहां गुंडों की फौज बना रखी है योगी ने। आज इस परिवार में मातम है और योगी बैठकर लेजर शो देख रहे हैं गोरखपुर में। जबकि यह कोई सामान्य मामला नहीं है, इस परिवार के लिए पूरे उत्तर प्रदेश में न्याय की लड़ाई आम आदमी पार्टी लड़ेगी। शहीद परिवार को कम से कम एक करोड़ की सम्मान राशि सरकार को देनी चाहिए। दिल्ली में हमारी सरकार है हमने वहां पर शहीदों के लिए एक करोड़ सम्मान राशि घोषित कर रखी है, इसलिए मेरी मांग है कि शहीद के परिवार को एक करोड़ की सम्मान राशि देनी चाहिए और उनके परिवार को सुरक्षा देनी चाहिए क्योंकि जो उनकी पत्नी का बयान है वह बेहद गंभीर हैं।

उन्होंने कहा है उनको जान से मारने की धमकियां पहले भी मिलती रही है उनकी पत्नी ने बताया है कि अखलाक के मामले की जांच कर रहे थे तो रोज जान से मारने की धमकियां मिलती रहती थी और फिर आगे चलकर उनको उस मामले से हटा दिया गया। मैं एक बार फिर से दोहरा रहा हूं कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के गुंडों का राज चल रहा है योगी उनके संरक्षक के रूप में काम कर रहे हैं। ऐसे उत्तर प्रदेश की व्यवस्था नहीं चल पाएगी। आम आदमी पार्टी इसका विरोध करती है और करती रहेगी। उत्तर प्रदेश को तालिबान बनाना चाहते हैं, हिंदुस्तान को तालिबान बनाना चाहते हैं, ऐसी गुंडई कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App