ताज़ा खबर
 

UP: सड़क किनारे सो रहे श्रद्धालुओं को बस ने रौंदा, एक ही परिवार के 7 लोगों की दर्दनाक मौत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर शोक जताया है और सभी मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा की है। एसएसपी के अनुसार मरने वाले सभी एक ही परिवार से हैं।

प्रयागराजप्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक तेज रफ्तार बस ने सड़क के किनारे सो रहे तीर्थयात्रियों पर बस चढ़ा दी। इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में तीन महिलांए और चार बच्चे शामिल हैं। पुलिस ने सभी शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। गौरतलब है कि हादसा एक निजी बस के अनियंत्रित होने से हुआ है। खबर के अनुसार मरने वालों में सभी हाथरस जिलें के रहने वालें है। यह सभी वैष्णो देवी तीर्थ यात्रा पर निकले हुए थे। गुरुवार की शाम वह सभी गंगा स्नान के बाद सड़क के किनारे सो रहे थे। मरने वालें सभी एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। मृतको के परिजनो को इस बात की सूचना दे दी गई है। हादसे के बाद से बस का ड्राइवर फरार है। पुलिस बस आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश कर रही है।

वैष्णों देवी दर्शन से वापस लौट रहे थे: मीडिया रिपोर्टस के अनुसार, हाथरस जिले के थाना चंदपा अंतर्गत गांव मोहनपुरा से 3 अक्टूबर को एक 56 यात्रियों को लेकर वैष्णो देवी दर्शन के लिए निकला था। गुरुवार (10 अक्टूबर) करीब नौ बजे हरिद्वार से बस नरोरा में गांधी घाट पर पहुंची थी। जिसके बाद श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान कर वहीं सड़क के किनारे खड़जे पर ही सो गए।

National Hindi News, 11 October 2019 Top Headlines Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बस छोड़ ड्राइवर फरार:  बताया जा रहा है कि यह घटना सुबह चार बजे की है। जब एक ही परिवार के सात लोग सड़क के किनारे गहरी नींद में सो रहे थे। उसी वक्त तेज रफ्तार बस ने उन्हें कुचल दिया। इस घटना के बाद बस चालक बस को मौके पर ही छोड़कर फरार हो गया। इस हादसे में सात लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

एसएसपी ने कहा अंधेरे की वजह से हुई घटना: बुंलदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि यह दुखद घटना सुबह करीब चार बजे की है। श्रद्धालुओं से भरी बस नरौरा घाट पहुंची थी। बस में सवार सभी श्रद्धालु हाथरस के रहने वाले थे। बस खड़ी होने के बाद उसमे से सात लोग जिनमें तीन महिलाएं और चार बच्चे उतरकर बस के आगे जाकर सो गए। इस बीच दूसरी बस भी वहां पहुंची। अंधेरा होने की वजह से वह जमीन सो रहे लोगों को देख नहीं सका और उन्हें कुचल दिया। इस हादसे में सभी की मौत हो गई, ड्राइवर की तलाश अभी जारी है।

यूपी सरकार ने 2-2 लाख रुपये देंने का किया ऐलान: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर शोक जताया है और सभी मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा की है। एसएसपी के अनुसार मरने वाले सभी एक ही परिवार से हैं। इनके नाम फूलवती(65), माला देवी (32), शीला देवी (35), योगिता (5), कल्पना (4), रेनू (22) और संजना(4) हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Amitabh Bachchan Birthday: संगमवासियों ने अनूठे तरीके से मनाया अपने ‘मुन्ना’ का जन्मदिन, हवन-पूजन कर की लंबी उम्र की कामना
2 MP: बरसात में अर्थी को श्मशान घाट तक ले जाने में मुश्किल, पानी में आधा डूबकर शव ले जाते हैं गांववाले
3 UP PCS Result 2017: टॉपर्स की कहानी- कोई छोड़कर आया 30 लाख का पैकेज, तो किसी ने आंखों की रोशनी गंवा कर की तैयारी
ये पढ़ा क्या?
X