ताज़ा खबर
 

MP : बीएसपी विधायक रामबाई के बोल- हम मंत्रियों के बाप, हमने ही बनाई सरकार

मध्य प्रदेश में मंत्री नहीं बनाने पर सीएम कमलनाथ को धमकाने वाली बीएसपी विधायक रमाबाई सिंह ने एक बाद फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम मंत्रियों के बाप हैं, हमने ही सरकार बनाई है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

मध्य प्रदेश में मंत्री नहीं बनाने पर सीएम कमलनाथ को धमकाने वाली बीएसपी विधायक रमाबाई सिंह ने एक बाद फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम मंत्रियों के बाप हैं, हमने ही सरकार बनाई है। रमाबाई का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। बता दें कि रमाबाई दामोह सीट से विधायक चुनी गई हैं।

मध्य प्रदेश में बगावत : एमपी में कमलनाथ सरकार बनने के साथ ही समर्थन देने वाले दलों के बागी तेवर नजर आ रहे हैं। अपने विधायकों को मंत्री पद नहीं मिलने पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा मुखिया अखिलेश यादव पहले ही नाराजगी जता चुके हैं। उसके बाद बीएसपी विधायक भी लगातार बयानबाजी कर रही हैं।

अब यह कहा रमाबाई ने : रमाबाई सिंह का एक वीडियो फिर वायरल हो रहा है। इसमें उनसे मंत्री बनने के बाद काम करने के बारे में सवाल पूछा गया था। उन्होंने जवाब दिया, ‘‘हम मंत्री बन जाएं तो अच्छा काम करेंगे, नहीं बने तो भी सही काम करेंगे। हम मंत्रियों के बाप हैं, क्योंकि हमने ही सरकार बनाई है।’’ हालांकि, रमाबाई के इस बयान पर कांग्रेस ने कोई टिप्पणी नहीं की है।

कर्नाटक का हवाला भी दे चुकीं विधायक : कुछ दिन पहले रमाबाई ने कमलनाथ सरकार से मंत्री पद देने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि मध्य प्रदेश में कर्नाटक जैसी स्थिति नहीं बननी चाहिए। अगर उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया तो यहां कमलनाथ सरकार का हाथ कर्नाटक जैसा हो जाएगा। रमाबाई ने कहा था कि प्रदेश में बीएसपी के 2 विधायक निर्वाचित हुए हैं। सरकार बनाते समय कांग्रेस ने मंत्री पद देने का वादा किया था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। कांग्रेस जल्द से जल्द अपना वादा पूरा करे, क्योंकि मैं नहीं चाहती कि यहां कर्नाटक जैसे हालात बनें।

इसलिए नहीं हट रहे पीछे : रमाबाई ने पहले कहा था कि कांग्रेस को बहन मायावती ने समर्थन दिया है। इस वजह से कोई भी विधायक हिल-डुल नहीं रहा है। अब सोचने की बारी कांग्रेस की है। निर्दलीय विधायकों का कभी भरोसा नहीं होता कि वे किस तरफ चले जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App