ताज़ा खबर
 

पलटवार: रैली में भाजपा पर बरसीं बसपा प्रमुख मायावती, चौकीदारी का नाटक नहीं बचा पाएगा सत्ता

बसपा प्रमुख ने कहा कि मेहनतकश मजदूरों, दलितों व पिछड़ों को अच्छे दिन का सपना दिखाकर सत्ता में आई भाजपा अपने चुनावी वादे का एक चौथाई हिस्सा भी पूरा नहीं कर पाई। अच्छे दिन के वादे खोखले साबित हुए हैं।

बसपा सुप्रीमो मायावती। (एक्सप्रेस फोटोः विशाल श्रीवास्तव)

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा है कि आजादी के बाद लंबे समय तक भाजपा और कांग्रेस के पास ही केंद्र की सत्ता रही है। कांग्रेस को गलत नीतियों व कार्यशैली की वजह से सत्ता से बेदखल होना पड़ा। वहीं, अब पूंजीपतियों, आरएसएस और अहंकार की वजह से भाजपा सत्ता से बाहर होगी। भाजपा पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि चौकीदारी का नाटक भी सत्ता बचा नहीं पाएगा। भाजपा ने सिर्फ बड़े पूंजीपतियों की चौकीदारी की है। मायावती सोमवार को गौतम बुद्ध नगर लोकसभा सीट से बसपा-सपा-रालोद के गठबंधन प्रत्याशी सतवीर नागर के समर्थन में ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क में चुनावी जनसभा को संबोधित कर रही थीं। मायावती के गृह जनपद में हुई इस रैली में चिलचिलाती धूप के बावजूद हजारों की संख्या में समर्थक जुटे।

बसपा प्रमुख ने कहा कि मेहनतकश मजदूरों, दलितों व पिछड़ों को अच्छे दिन का सपना दिखाकर सत्ता में आई भाजपा अपने चुनावी वादे का एक चौथाई हिस्सा भी पूरा नहीं कर पाई। अच्छे दिन के वादे खोखले साबित हुए हैं। 15 लाख रुपए का वादा गरीबों के लिए मजाक बनकर रह गया। देश की जनता को बेवकूफ बनाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाए गए। राष्ट्रवाद का नाटक करने वाली भाजपा सरकार ने पुलवामा घटना को भी भुनाने का काम किया। चुनाव का समय नजदीक देख सरकार ने आधी-अधूरी परियोजनाओं का शिलान्यास कर दिया। चुनाव घोषित होने से पहले पेश किए गए अंतरिम बजट में जनता को लुभाने के अलावा और कुछ नहीं किया। भाजपा का इस लोकसभा चुनाव में घोषणापत्र जारी करने का नैतिक अधिकार भी नहीं बनता है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल में केंद्र सरकार ने बड़े-बड़े पूंजीपतियों को मालामाल किया है और उन्हें बचाने के लिए हर स्तर पर चौकीदारी की है। नोटबंदी व जीएसटी को सरकार ने बिना तैयारी के लागू किया, जिससे देश में गरीबी और बेरोजगारी बढ़ी। लघु व मध्यमवर्गीय व्यापारी दुखी हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र में गैर-भाजपा सरकार बनी तो जेवर में हवाई अड्डा बनवाया जाएगा।

मायावती ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी कांग्रेस और भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में बोफोर्स तो भाजपा में रफाल के नाम पर बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है। कांग्रेस ने गरीबों को लुभाने के लिए 72 हजार रुपए का लालच दिया है। वहीं राष्ट्रवाद का झूठा नाटक करने वाली भाजपा के शासनकाल में देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं। आतंकी हमले हो रहे हैं, जिससे देश को काफी जनहानि हो रही है। मायावती ने कहा कि अगर सत्ता परिवर्तन होता है और उन्हें केंद्र में सरकार बनाने का मौका मिलता है, तो सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं में बेरोजगारों को स्थायी रोजगार दिलाया जाएगा। उन्होंने गरीबों को किसी के लालच में नहीं आने के लिए आगाह किया। मायावती ने खुद को क्षेत्र की बेटी बताकर लोगों से उनके गठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने की भावनात्मक अपील की। गठबंधन प्रत्याशी सतवीर नागर ने कहा कि अगर क्षेत्र की जनता ने उन्हें सांसद के रूप में चुनकर दिल्ली भेजा, तो नोएडा व ग्रेटर नोएडा की कंपनियों में जिले के पढ़े-लिखे बेरोजगार युवकों को रोजगार दिलाया जाएगा। किसानों को फसल का उचित दाम और मुआवजा राशि दिलाई जाएगी। किसानों, नौजवानों व व्यापारियों समेत सभी वर्ग के लोगों के मान-सम्मान की लड़ाई लड़ी जाएगी। इस मौके पर बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी शमसुद्दीन राइन, पूर्व विधायक सत्यवीर गुर्जर, उपाध्यक्ष आकाश आनंद, बसपा जिलाध्यक्ष लखमी सिंह, सपा जिलाध्यक्ष वीर सिंह यादव आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बंगाल: चाय बागान मजदूर करेंगे उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला
2 भाजपा संकल्प पत्र : और कम होगी राज्यों की दूरियां
3 बिहार: पत्नियों और रिश्तेदारों के बूते सियासी पकड़ की कोशिश में बाहुबली
ये पढ़ा क्या?
X