ताज़ा खबर
 

UPSC प्री एग्जाम की तारीख के नजदीक BPSC मुख्य परीक्षा कराने पर विवाद, विपक्ष ने कहा- नीतीश सरकार ने मूंद ली हैं आंखें

सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘प्रदेश में पिछले साल नकल का कीर्तिमान स्थापित हुआ था तथा इस साल टॉपर घोटाला हुआ है जिससे बिहार देश और दुनिया में शर्मसार हुआ है।

Author नई दिल्ली | Updated: June 5, 2016 9:19 PM
BPSC Mains Exam date, BPSC Latest news, BPSC Mains Exam, BPSC 2016, UPSC Pre, BPSC Exam 2016 Nitish Kumar, BPSC vs UPSC, Nitish Kumarनीतीश कुमार के शासनकाल में बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) द्वारा असिस्टेन्ट प्रोफेसर की भर्ती में भारी अनियमितता बरतने के मामले उजागर हुए हैं।

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) मुख्य परीक्षा की तिथि का मुद्दा विवाद में घिरता दिख रहा है। छात्रों ने मांग की है कि बीपीएससी मुख्य परीक्षा की तारीख को सात अगस्त को होने वाली संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) प्रारंभिक परीक्षा के बाद निर्धारित किया जाए। हालांकि बिहार लोक सेवा आयोग ने बीपीएससी मुख्य परीक्षा की तिथि 8 जुलाई से 30 जुलाई के बीच कराने का कार्यक्रम घोषित कर दिया है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘यूपीएससी और बीपीएससी में बैठने वाले छात्र और युवा परेशान हैं और नीतीश कुमार सरकार प्रशासनिक सेवा में शामिल होने वाले छात्रों की समस्याओं पर आंख मूंदे हुए है।’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले साल नकल का कीर्तिमान स्थापित हुआ था तथा इस साल टॉपर घोटाला हुआ है जिससे बिहार देश और दुनिया में शर्मसार हुआ है।

जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष एवं सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि बीपीएससी मुख्य परीक्षा देने वाले छात्र परेशान हैं। वे अपनी परेशानी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बता चुके हैं जबकि लालू प्रसाद के पास इन बच्चों की समस्या सुनने का वक्त नहीं हैं। उन्होंने आरोप लगया कि नीतीश और लालू को इन छात्रों के हितों की कोई चिंता नहीं है।

उत्तरप्रदेश की सरकार ने यूपीपीएससी की तिथि में बदलाव कर दिया और अपने छात्रों को राहत दी लेकिन बिहार सरकार को छात्रों की कोई चिंता नहीं है। पप्पू यादव ने कहा कि बीपीसीएसी परीक्षा देने वाले दो-चार सौ या हजार छात्रों की परेशानी वोट बैंक का विषय नहीं है, इसलिए नीतीश और लालू को इससे कोई मतलब नहीं रह गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार की नीतीश कुमार सरकार शिक्षा विरोधी और तरक्की विरोधी है और चाहती है कि प्रदेश के लोग अशिक्षित बने रहें ताकि इनका कोई विरोध न कर सके ।

इस बारे में पूछे जाने पर जदयू के राज्यसभा सदस्य अली अनवर अंसारी ने कहा कि वह छात्रों की समस्याओं को मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे। उल्लेखनीय है कि बीपीएससी मुख्य परीक्षा की तैयारी करने वाले कई छात्र गत बुधवार (1 जून) को शिकायत लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास एक अणे मार्ग गए थे। इन छात्रों ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने इस मामले में उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था। छात्र चाहते हैं कि बीपीएससी मुख्य परीक्षा की तिथि संघ लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा के बाद निर्धारित की जाए क्योंकि दोनों परीक्षा का पैटर्न अलग अलग है और इससे छात्रों को समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories