ताज़ा खबर
 

केरल में स्थित RSS के दफ्तर पर फेका गया बम, 3 RSS कार्यकर्ता हुए घायल

केरल के कोझिकोड के नदापुरम में आरएसएस के दफ्तर के नजदीक बम फेके जाने की खबर आई है। इस घटना में 3 आरएसएस के कार्यकर्ता घायल हुए हैं।

Author नई दिल्ली | March 3, 2017 11:15 AM
केरल में RSS दफ्तर के पास धमाका (Photo- ANI)

केरल के कोझिकोड में बम फेके जाने की खबर आ रही है। ANI के मुताबिक यह हादसा कोझिकोड के नदापुरम में हुआ हैं। बताया जा रहा है कि जहां पर यह हादसा हुआ है वहां RSS का दफ्तर स्थित है। दफ्तर के पास ही बम फेका गया है। हादसे में 3 आरएसएस के कार्यकर्ता घायल हुए हैं। घायल आरएसएस के कार्यकर्ताओं को राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। जिले के नदापुरम के नजदीक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यालय पर कुछ अज्ञात लोगों ने आज बम फेंक दिया जिसमें चार RSS कार्यकर्ता घायल हो गए।
पुलिस ने बताया कि कलाची में रात को करीब साढ़े आठ बजे यह घटना घटी। घायलों की पहचान बाबू, विनेश, सुधीर और सुनील के रूप में हुई है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारीके मुताबिक RSS कार्यकर्ता बाबू और विनेश गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें कोझिकोड़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया जबकि दो अन्य को यहां के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। उन्होंने बताया कि इस हमले के पीछे के कारणों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है।

बता दें कि इससे पहले भी 26 जनवरी को रात को राज्य में आरएसएस के 2 दफ्तर पर बम फेके गए थे। ये दोनों बम आरएसएस के नारूवामूडू और मट्टनऊर के इलाके में बने दफ्तरों पर फेंके गए। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने इन घटनाओं का विरोध किया है। उन्होंने राज्य में बंद का ऐलान किया है। गौरतलब है कि RSS के दफ्तरों पर बम फेंके जाने के कुछ घंटे पहले ही CPI(M) नेता की एक जन सभा में बम फेंका गया था। उस घटना में एक शख्स जख्मी हो गया था। केरल में CPM-RSS के बीच ऐसी लड़ाईयां होती रहती हैं।

 

इससे पहले भी ऐसी कई घटनाएं सामने आती रही हैं। दोनों के बीच यह लड़ाई मई 2016 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद से शुरू हुई है। उसमें लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) सत्ता में आई थी। LDF में कुल 12 पार्टियां शामिल हैं। जिसमें से सबसे ज्यादा विधायक CPI(M) के ही हैं। केरल विधानसभा में CPI(M) के कुल 58 विधायक हैं। वहां कुल विधानसभा सीटों की संख्या 140 है। उसमें से LDF ने कुल 91 जीती थीं।

वहीं हाल ही में राज्य के कन्नूर जिले में कथित तौर पर माकपा कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के 30 साल के एक कार्यकर्ता की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। एक अन्य घटना में थालीपरंबा स्थित आरएसएस के कार्यालय पर एक देसी बम फेका गया था। हालांकि उस समय घटना में कोई हताहत नहीं हुआ था।

ये दोनों बम आरएसएस के नारूवामूडू और मट्टनऊर के इलाके में बने दफ्तरों पर फेंके गए। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने इन घटनाओं का विरोध किया है। उन्होंने राज्य में बंद का ऐलान किया है। गौरतलब है कि RSS के दफ्तरों पर बम फेंके जाने के कुछ घंटे पहले ही CPI(M) नेता की एक जन सभा में बम फेंका गया था। उस घटना में एक शख्स जख्मी हो गया था। केरल में CPM-RSS के बीच ऐसी लड़ाईयां होती रहती हैं। इससे पहले भी ऐसी कई घटनाएं सामने आती रही हैं। दोनों के बीच यह लड़ाई मई 2016 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद से शुरू हुई है। उसमें लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) सत्ता में आई थी। LDF में कुल 12 पार्टियां शामिल हैं। जिसमें से सबसे ज्यादा विधायक CPI(M) के ही हैं। केरल विधानसभा में CPI(M) के कुल 58 विधायक हैं। वहां कुल विधानसभा सीटों की संख्या 140 है। उसमें से LDF ने कुल 91 जीती थीं।

केरल: RSS दफ्तर पर फेंका गया बम, 3 कार्यकर्ता घायल

"केरल के सीएम का सिर काटकर लाने वाले को मिलेगा 1 करोड़ का इनाम": RSS नेता

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App