ताज़ा खबर
 

असमः जियाभरेली नदी में डूबी 45 लोगों से भरी नाव, SDRF यूं बचाई जान, एक अभी भी लापता

सूचना मिलते ही पुलिस और स्थानीय प्रशासन के लोग घटनास्थल पर पहुंचे और तुरंत बचाव कार्य करने के लिए एसडीआरफ की तैनाती की गई। अधिकारी ने बताया कि नाव में यात्रियों के अलावा मवेशी और आठ मोटरसाइकिलें लदी थीं

Author गुवाहाटी | Published on: October 18, 2019 5:35 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

असम के श्रोणितपुर जिले के जियाभरेली नदी में गुरुवार (17 अक्टूबर) को एक यांत्रिक नाव डूब गई। इस हादसे में एक व्यक्ति लापता है। सरकारी अधिकारी ने बताया कि हादसे के वक्त नौका में करीब 45 सवार थे। तेजपुर सदर के क्षेत्राधिकारी पंकज छामुआ ने बताया कि नाव बिहियागांव इलाके में डूबी और आधे लोग तैर कर किनारे तक आए बाकी को राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) ने बचाया।

नाव में बहुत ज्यादा था वजनः प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार नाव सुबह करीब साढ़े 11 बजे डूबी। यह नाव बिहियागांव से बोराघाट जा रही थी। छमुआ ने बताया, सूचना मिलते ही पुलिस और स्थानीय प्रशासन के लोग घटनास्थल पर पहुंचे और तुरंत बचाव कार्य करने के लिए एसडीआरफ की तैनाती की गई। अधिकारी ने बताया कि नाव में यात्रियों के अलावा मवेशी और आठ मोटरसाइकिलें लदी थीं।

‘चेतावनी के बावजूद नहीं मानते नाविक’: फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। लेकि प्रथम दृष्ट्या हादसे की वजह क्षमता से बहुत अधिक सामान का लदा होना लग रहा है। जांच के बाद सामने आए तथ्यों के आधार पर पुलिस दोषियों पर कार्रवाई करेगी। स्थानीय अधिकारियों ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर मीडिया को बताया कई बार चेतावनी दिए जाने के बावजूद नाविक प्रशासन की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश करते हैं।

आमजन को मिली चेतावनीः अधिकारियों ने हादसे के बाद सख्ती बढ़ाने के साथ-साथ ही आम जनता को भी सलाह दी है। उन्होंने कहा कि ऐसी नव में सवारी न करें जो बहत क्षमता से अधिक भरे वाहनों में यात्रा नहीं करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राज्य सरकार की नई पहल, अब आम मतदाता भी लड़ सकेगा मेयर-सभापति का चुनाव