ताज़ा खबर
 

बीएमसी में शिवसेना से जीते दो मुस्लिम, बोले- यह पार्टी ही मुसलमानों की सच्‍ची हमदर्द

शिवसेना ने पांच मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया था जिसमें से एक बांद्रा इलाके के बेहरामपाड़ा से और दूसरे उपनगरीय अमबोली और जोगेश्वरी का प्रतिनिधित्व करने वाले एक वार्ड से जीते हैं।

Author February 26, 2017 6:25 PM
shiv sena, muslims, BMC, brihan mumbai municipal corporation, BMC result, shiv sena muslims, muslims shiv sena, shiv sena muslim corporator, mumbai newsशिवसेना ने मुंबई नगर निकाय चुनाव में 84 सीटें जीतीं हैं। (Photo:PTI)

‘हिन्दुत्व’ की विचारधारा के लिए पहचानी जाने वाली शिवसेना ने मुंबई शहर के दो मुस्लिम इलाकों में पैठ बनाई है जहां से जीते उम्मीदवारों ने इस भगवा पार्टी को समुदाय का ‘सच्चा हमदर्द’ करार दिया है। पार्टी ने मुंबई नगर निकाय चुनाव में 84 सीटें जीतीं हैं। पार्टी ने पांच मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया था जिसमें से एक बांद्रा इलाके के बेहरामपाड़ा से और दूसरे उपनगरीय अमबोली और जोगेश्वरी का प्रतिनिधित्व करने वाले एक वार्ड से जीते हैं। बांद्रा (पूर्व) के बहरमपाड़ा के वार्ड संख्या 96 से जीते शिवसेना प्रत्याशी हाजी हलीम खान (35) ने आरोप लगाया कि पार्टी को मुस्लिम विरोधी के तौर पर पेश करना लोगों के कुछ तबकों का काम है।

उन्होंने कहा, ‘‘यह कहना कि शिवसेना मुस्लिम विरोधी है बकवास है और मुसलमानों में शिवसेना को खराब तरीके से पेश करना समाज के कुछ तबकों का काम है। शिवसेना हमेशा समस्याओं का हल करने में मदद करती है। वे हमारे सच्चे हमदर्द हैं। मुझे यह याद आता है कि हमारी एक प्रमुख मस्जिद तब बन पाई थी जब बालासाहेबजी ने मदद की।’’ पेशे से टूर ऑपरेटर, खान ने मुस्लिम बहुल वार्ड में शिवसेना को पहली बार जीत दिलाई है जो कांग्रेस का गढ़ रहा है। उन्होंने कांग्रेस पर समुदाय को वोट बैंक समझने का आरोप लगाया।

खान ने कहा, ‘‘कांग्रेस मुस्लिमों को मात्र वोट बैंक से ज्यादा कुछ नहीं समझती है, जबकि शिवसेना हर मुस्लिम को देश के प्रति वफादार होने को प्रोत्साहित करती है। बालासाहेब ने हमेशा सच्चे मुसलमान की तारीफ की है।’’ उपनगरीय अमबोली और जोगेश्वरी का प्रतिनिधित्व करने वाले वार्ड संख्या 64 से जीती शाहिदा खान (52) ने खान के ही विचारों को दोहराया और कहा कि शिवसेना हमेशा समुदाय के लोगों की मदद करती है जो भी उसके पास वास्तविक समस्या लेकर पहुंचता है।

शाहिद ने बताया, ”हिंदुत्‍व एक छाया है, इससे कोई इनकार नहीं कर सकता और हमें इसके साथ रहना है। जब हमारी पार्टी के प्रमुख ऐसा कह ते हैं तो इसमें कुछ गलत नहीं है। सबसे बड़ी बात है कि मेरी पार्टी हमेशा से समुदाय की लोगों की मदद को तैयार रहती है।” उनके पति हारून खान 16 साल से इलाके में शिवसेना के शाखा प्रमुख हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मेघालय: 70 लोगों को ले जा रहे ट्रक के ड्राइवर ने खोया नियंत्रण, हादसे में 17 की मौत, 62 घायल
2 पाकिस्तान ने दिखाई दरियादिली, गलती से नियंत्रण रेखा पार करने वाले दो कश्मीरियों को वापस भेजा
3 महाराष्‍ट्र-ओडिशा के नतीजों ने उड़ाई कांग्रेस की नींद, एमसीडी चुनावों में दांव पर होगी साख
ये पढ़ा क्या?
X