BMC candidate’s claim of zero vote, at the centre of anti-EVM debate, turns out wrong - फर्जी निकला जीरो वोट पाने का बीएमसी उम्मीदवार का दावा, पहले मचाया था शोर, अब कह रहे- कुछ नहीं कहना - Jansatta
ताज़ा खबर
 

फर्जी निकला जीरो वोट पाने का बीएमसी उम्मीदवार का दावा, पहले मचाया था शोर, अब कह रहे- कुछ नहीं कहना

34 साल के श्रीकांत ने ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए दावा किया था कि उन्हें अपने पोलिंग बूथ पर एक भी वोट नहीं मिला, जबकि उन्होंने खुद के लिए वोट डाला था।

बीएमसी उम्मीदवार श्रीकांत गणपत शिरसत।

बीएमसी चुनावों में बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले श्रीकांत गणपत शिरसत ने 23 फरवरी को चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद चौंकाने वाले दावे किए थे। 34 साल के श्रीकांत ने ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए दावा किया था कि उन्हें अपने पोलिंग बूथ पर एक भी वोट नहीं मिला, जबकि उन्होंने खुद के लिए वोट डाला था। उन्होंने दोबारा चुनाव कराने की भी मांग उठाई थी। पिछले दो महीनों में यूपी, उत्तराखंड और पंजाब विधानसभा चुनावों में राजनीतिक पार्टियों ने ईवीएम में हैकिंग के जो दावे किए हैं, उसमें श्रीकांत के दावों का भी जिक्र किया गया था। इसी के मद्देनजर आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा में ईवीएम मॉडल हैकिंग का लाइव डेमोन्स्ट्रेशन करके दिखाया था। लेकिन श्रीकांत के दावे तथ्यों से मेल नही खाते।

गुरुवार को इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में महाराष्ट्र के उप चुनाव आयुक्त अविनाश टी सनस ने कहा, श्रीकांत साकीनाका के वार्ड नंबर 164 से खड़े हुए थे। उनके दावों के बाद हमने जांच शुरू की और पाया कि बतौर वोटर उनका नाम दो पोलिंग बूथ पर दर्ज है। उनके दावों के उलट उन्हें दोनों ही पोलिंग बूथ पर जीरो वोट नहीं मिले हैं। महाराष्ट्र के राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के  मुताबिक श्रीकांत को 164 नंबर वार्ड से करीब 44 वोट मिले हैं। 44 वोटों में से उन्हें 11 बूथ नंबर 29 और दो वोट 15 नंबर बूथ से मिले। नाम न बताने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया कि चूंकि वह बूथ नंबर 29 वाले इलाके में रहते हैं, इसलिए हमें लगा कि उन्होंने वोट वहीं डाला होगा। तो उनका यह दावा कि उनके परिवार और पड़ोसियों का वोट गायब हो गया, गलत है।

अधिकारी ने कहा, 27 फरवरी को राज्य निर्वाचन आयोग को लिखी शिकायत में शिरसत ने कहीं भी यह नहीं बताया था कि उन्हें अपने ही पोलिंग बूथ पर जीरो वोट मिले हैं। उन्होंने यह सिर्फ मीडिया को बताया। अपनी शिकायत में उन्होंने सिर्फ ईवीएम में गड़बड़ी और फिर से चुनाव कराने की मांग की थी। जब श्रीकांत से इस बारे में संपर्क किया गया तो उन्होंने इस मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App