ताज़ा खबर
 

BJP केंद्रीय पर्यवेक्षकों का दावा- दिल्ली MCD चुनावों में पार्टी नेता चमकाते रहे खुद की इमेज, फंड का हुआ दुरुपयोग

बीजेपी हेडक्वॉटर्स में जमा किए गए बिलों का अॉडिट करने का आदेश भी दिया गया है। रिपोर्ट बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को सौंप दी गई है।

प्रतीकात्मक फोटो

दिल्ली एमसीडी में शानदार जीत के बावजूद बीजेपी आलाकमान राजधानी में पार्टी प्रदेश में मामलों की स्थिति को लेकर नाराज चल रहा है। एमसीडी चुनावों के लिए भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने पार्टी आलाकमान को एक रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें कहा गया है कि प्रदेश बीजेपी के नेता खुद की ही तारीफ में लगे रहे और उनमें कॉर्डिनेशन की कमी थी। रिपोर्ट में चुनावी कैंपेन के दौरान फंड के दुरुपयोग की बात भी कही गई है। बीजेपी हेडक्वॉटर्स में जमा किए गए बिलों का अॉडिट करने का आदेश भी दिया गया है। रिपोर्ट बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को सौंप दी गई है।

उच्च स्तरीय सूत्र ने इंडिया टुडे को बताया कि प्रचार के दौरान नुक्कड़ नाटक से संबंधित बिल अभी लंबित हैं और इसलिए अब तक विक्रेताओं को कोई भुगतान नहीं किया गया है। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि बीजेपी के महासचिवों के पास चुनावी कैंपेन को मैनेज करने के लिए जिम्मेदारी थी। उन्होंने पार्टी हेडक्वॉटर्स में बिल जमा किए थे, लेकिन पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट के बाद अॉडिट के आदेश दिए गए हैं। एक सूत्र के मुताबिक प्लान के तहत सभी 272 वार्डों में 8 नुक्कड़ नाटक होने थे। लेकिन पर्यवेक्षकों ने पाया कि ज्यादातर वार्डों में एक भी नाटक नहीं हुआ। लेकिन हेडक्वॉटर्स में जो बिल जमा किए गए हैं, उसके मुताबिक कुछ क्षेत्रों में 24 नुक्कड़ नाटक आयोजित किए गए थे, जो अवास्तविक लगता है।

प्रदेश यूनिट से मांगा गया जवाब:  मामले की गंभीरता को देखते हुए पार्टी के तीन जनरल सेक्रेटरी-कुलजीत सिंह चाहल, रविंद्र गुप्ता और राजेश भाटिया से इस कथित गड़बड़ी को लेकर जवाब मांगा गया है। एक बीजेपी नेता ने कहा कि प्रदेश ईकाई में इस तरह की अनुशासनहीनता पार्टी के लिए चिंता का सबब है। रिपोर्ट में पार्टी के महासचिवों पर आरोप है कि वे चुनाव के दौरान पोस्टर्स, बैनर और अन्य माध्यमों के जरिए खुद की छवि को चमकाते रहे। जबकि पार्टी के कई सीनियर नेताओं के अलावा दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी को भी साइडलाइन कर दिया गया। ये लोग सभी पोस्टरों और होर्डिंग में अपने-अपने सांसदों के साथ दिख रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App