ताज़ा खबर
 

BJP केंद्रीय पर्यवेक्षकों का दावा- दिल्ली MCD चुनावों में पार्टी नेता चमकाते रहे खुद की इमेज, फंड का हुआ दुरुपयोग

बीजेपी हेडक्वॉटर्स में जमा किए गए बिलों का अॉडिट करने का आदेश भी दिया गया है। रिपोर्ट बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को सौंप दी गई है।

bjp, delhi mcd election, election 2017, delhi, elections, latest news, jansatta, news hindi, Delhi Municipal Corporation Election, Delhi Municipal Corporation Elections, huslte, BJP, high command, expensive, group, bjp leaders, Delhi MP, Leader of Opposition, Union Minister Vijay Goel and Anil Jain.प्रतीकात्मक फोटो

दिल्ली एमसीडी में शानदार जीत के बावजूद बीजेपी आलाकमान राजधानी में पार्टी प्रदेश में मामलों की स्थिति को लेकर नाराज चल रहा है। एमसीडी चुनावों के लिए भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने पार्टी आलाकमान को एक रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें कहा गया है कि प्रदेश बीजेपी के नेता खुद की ही तारीफ में लगे रहे और उनमें कॉर्डिनेशन की कमी थी। रिपोर्ट में चुनावी कैंपेन के दौरान फंड के दुरुपयोग की बात भी कही गई है। बीजेपी हेडक्वॉटर्स में जमा किए गए बिलों का अॉडिट करने का आदेश भी दिया गया है। रिपोर्ट बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को सौंप दी गई है।

उच्च स्तरीय सूत्र ने इंडिया टुडे को बताया कि प्रचार के दौरान नुक्कड़ नाटक से संबंधित बिल अभी लंबित हैं और इसलिए अब तक विक्रेताओं को कोई भुगतान नहीं किया गया है। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि बीजेपी के महासचिवों के पास चुनावी कैंपेन को मैनेज करने के लिए जिम्मेदारी थी। उन्होंने पार्टी हेडक्वॉटर्स में बिल जमा किए थे, लेकिन पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट के बाद अॉडिट के आदेश दिए गए हैं। एक सूत्र के मुताबिक प्लान के तहत सभी 272 वार्डों में 8 नुक्कड़ नाटक होने थे। लेकिन पर्यवेक्षकों ने पाया कि ज्यादातर वार्डों में एक भी नाटक नहीं हुआ। लेकिन हेडक्वॉटर्स में जो बिल जमा किए गए हैं, उसके मुताबिक कुछ क्षेत्रों में 24 नुक्कड़ नाटक आयोजित किए गए थे, जो अवास्तविक लगता है।

प्रदेश यूनिट से मांगा गया जवाब:  मामले की गंभीरता को देखते हुए पार्टी के तीन जनरल सेक्रेटरी-कुलजीत सिंह चाहल, रविंद्र गुप्ता और राजेश भाटिया से इस कथित गड़बड़ी को लेकर जवाब मांगा गया है। एक बीजेपी नेता ने कहा कि प्रदेश ईकाई में इस तरह की अनुशासनहीनता पार्टी के लिए चिंता का सबब है। रिपोर्ट में पार्टी के महासचिवों पर आरोप है कि वे चुनाव के दौरान पोस्टर्स, बैनर और अन्य माध्यमों के जरिए खुद की छवि को चमकाते रहे। जबकि पार्टी के कई सीनियर नेताओं के अलावा दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी को भी साइडलाइन कर दिया गया। ये लोग सभी पोस्टरों और होर्डिंग में अपने-अपने सांसदों के साथ दिख रहे थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 योगी आदित्यनाथ को काला झंडा दिखाने पर 500 लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा
2 आडवाणी-जोशी समेत 13 लोगों पर आरोप तय करने के लिए सीबीआई कोर्ट में शुरू हुई सुनवाई, 24 मई को अगली तारीख
3 शिवसेना ने मुंबई-नागपुर एक्सप्रेसवे का किया विरोध, कहा- समृद्धि गलियारे के लिए किसानों से होती रही मारपीट तो करेंगे आत्महत्या
ये पढ़ा क्या?
X