ताज़ा खबर
 

बीजेपी कार्यकर्ता की पीएम को दो टूक- टैक्स वसूलने पर सारा ध्यान है, मध्य वर्ग को राहत भी तो दीजिए

पीएम तमिलनाडु और पुदुचेरी के बूथ वर्करों से मुखातिब थे। सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था और पीएम सरकार की उपलब्धियां गिना रहे थे। दक्षिण भारत के श्रोताओं का ध्यान रखते हुए मोदी अधिकतर अंग्रेजी में बोल रहे थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Photo Source PTI)

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता निर्मल कुमार जैन उन चुनिंदा लोगों में से एक थे, जिन्हें बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मुखातिब होने का मौका मिला। पुदुचेरी के रहने वाले निर्मल नमो ऐप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम से बात कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने पीएम से शिकायत की कि ‘आपकी सरकार हर तरीके से सिर्फ टैक्स वसूलने में लगी हुई है।’ बता दें कि मोदी इससे पहले भी अपने ऐप के जरिए इस तरह की बातचीत कर चुके हैं। इस वार्तालाप का मकसद सरकार की योजनाओं को आम लोगों तक पहुंचाना और विपक्ष के हमले को कुंद करना होता है।

द टेलिग्राफ में छपी खबर के मुताबिक, बुधवार को पीएम तमिलनाडु और पुदुचेरी के बूथ वर्करों से मुखातिब थे। सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था और पीएम सरकार की उपलब्धियां गिना रहे थे। दक्षिण भारत के श्रोताओं का ध्यान रखते हुए मोदी अधिकतर अंग्रेजी में बोल रहे थे। पीएम ने पुदुचेरी की खूबसूरती की तारीफ की और पूछा कि वहां से कौन बात करना चाहता है? एक शख्स ने हाथ उठाया और उसे माइक दिया गया। उसने अपना परिचय निर्मल कुमार जैन के तौर पर दिया। निर्मल ने हिंदी और अंग्रेजी, दोनों ही भाषाओं में अपनी बात रखी।

निर्मल ने कहा, ‘माननीय प्रधानमंत्री जी, मैं आपसे बात करने के इस मौके के लिए शुक्रगुजार हूं। मेरा सवाल यह है कि आप देश को बदलने के लिए जो कुछ कर रहे हैं, वह बेशक अच्छा कदम है, लेकिन मिडिल क्लास की राय है कि आपकी सरकार हर तरीके से सिर्फ और सिर्फ टैक्स वसूलने में लगी हुई है। वे आईटी सेक्टर, लोन मिलने की प्रक्रिया, बैंक लेनदेन फीस और पेनल्टी में राहत की उम्मीद कर रहे थे लेकिन नहीं मिली। मेरी आपसे दरख्वास्त है कि आपकी पार्टी की जड़ इस मिडिल क्लास का आप उसी तरह से ख्याल रखें, जिस तरह से उनसे आप टैक्स लेते हैं। धन्यवाद।’

इसके जवाब में मोदी ने कहा, ‘शुक्रिया निर्मल जी। आप एक कारोबारी हैं, इसलिए यह सामान्य है कि आपने कारोबार के बारे में बात की।’ अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, इसके बाद मोदी ने लोगों को हंसाने की नाकाम कोशिश करते हुए कहा, ‘मैं आम लोगों का ध्यान रखने का पक्षधर हूं और विश्वास दिलाता हूं कि उनका ध्यान रखा जाएगा।’ इसके बाद मोदी बगल में देखने लगे, शायद वह दूसरे सवाल का इंतजार कर रहे थे। विरोधियों का आरोप है कि वह निरुत्तर नजर आए। हालांकि, दावे की पुष्टि करना मुश्किल है। इसके कुछ सेकेंड बाद मोदी अगले सवाल पर बढ़ गए। उन्होंने इस राज्य के लोगों से कहा, ‘चलिए, पुदुचेरी को वणक्कम।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App