ताज़ा खबर
 

भाजपा के लिए हिमाचल से बुरी खबर, स्थानीय निकाय के चुनाव में चार में से दो सीटों पर हार

कांग्रेस की सबसे जबरदस्त जीत पालमपुर में हुई, जो कि भाजपा नेता और पूर्व सांसद शांता कुमार का गढ़ रहा है।

Himachal Pradesh, Municipal Corporationहिमाचल प्रदेश में नगरपालिका चुनाव में 60 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था। (फोटो- ANI)

हिमाचल प्रदेश के चार नगर निगमों में बुधवार को हुए चुनाव में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। पार्टी को यहां सिर्फ एक सीट पर ही साफ जीत मिली है, एक सीट पर उसकी बढ़त है। लेकिन बाकी दो सीटें कांग्रेस ने भाजपा से छीन ली हैं। 2022 के राज्य विधानसभा चुनाव से पहले इन चुनावों को राज्य का मूड जानने के लिए अहम माना जा रहा था।

बता दें कि जिन चार नगरपालिका परिषदों में चुनाव कराए गए थे, उनमें सोलन, पालमपुर धर्मशाला और मंडी शामिल थे। सोलन, पालमपुर और मंडी के अलग नगरपालिका बनाए जाने के बाद इन जगहों पर ये पहले चुनाव थे।

सोलन, पालमपुर कांग्रेस के खाते में: कांग्रेस के खाते में जहां सोलन और पालमपुर सीट गई, वहीं भाजपा ने मंडी और धर्मशाला में जीत दर्ज की। पालमपुर में तो कांग्रेस ने एकतरफा तरीके से जीत हासिल की और यहां 15 वार्ड में से 11 पर जीत हासिल की। वहीं भाजपा और निर्दलीय के खाते में एक-एक वॉर्ड गया। बता दें कि पालमपुर भाजपा नेता और पूर्व सांसद शांता कुमार का गृहनगर है। लेकिन यहां पर कांग्रेस ने जबरदस्त जीत हासिल की। सोलन के 17 वॉर्डों में कांग्रेस ने नौ वॉर्डों पर कब्जा जमाया, वहीं भाजपा को 7 वॉर्डों पर जीत मिली। एक वार्ड पर निर्दलीय का कब्जा रहा।

मुख्यमंत्री के गृहनगर में बेहतर रहा भाजपा का प्रदर्शन: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृह नगर मंडी में भाजपा का प्रदर्शन शानदार रहा और उसने 11 वार्डों पर अपना कब्जा जमाया। यहा कांग्रेस के खाते में चार सीटें गईं। इसके अलावा, धर्मशाला में भाजपा ने 8 वार्डों में जीत हासिल की, तो कांग्रेस 5 जीतने में सफल रही। यहां निर्दलीय के खाते में वार्ड की चार सीटें गईं हैं।

60 फीसदी रही थी नगर निकाय चुनाव में वोटिंग: नगर निगम चुनावों में करीब 60 प्रतिशत मतदान हुआ है। एक निर्वाचन अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। रिपोर्ट के मुताबिक, धर्मशाला, मंडी, सोलन एवं पालमपुर नगर निगम में 59.60 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इसके अनुसार पालमपुर में 67.6 फीसदी, मंडी में 62.30 फीसदी, सोलन में 55.30 प्रतिशत एवं धर्मशाला में 54.5 फीसदी मतदान हुआ।

गौरतलब है कि मंडी, सोलन एवं पालमपुर नवगठित नगरीय निकाय है और यहां पहली बार मतदान हुआ है। धर्मशाला नगर निगम के लिये पहली बार चुनाव अप्रैल 2016 में कराया गया था और और यह चुनाव पार्टी के चुनाव चिन्ह पर नहीं लड़ा गया था।

Next Stories
1 फिल्ममेकर संतोष गुप्ता की पत्नी ने खुद को लगाई आग, बेटी ने भी कर ली खुदकुशी
2 मुख्तार अंसारी का दाहिना हाथ था शूटर हनुमान पांडेय, स्कूल की एक घटना से बन गया था क्रिमिनल
3 जब महिला ऐंकर ने पूछा, राबड़ी देवी फिर से बनेंगी मुख्यमंत्री? जवाब दिया- तुम नहीं बन सकती क्या
ये पढ़ा क्या?
X