केरलः सीरिया जैसे हालात बन रहे, RSS वर्कर की हत्या पर बोले बीजेपी अध्यक्ष- माकपा और पीएफआई में है सांठगांठ

विदेश और संसदीय मामलों के राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा कि दुनिया के किसी भी हिस्से में लोग इस्लामिक आतंकवाद के बारे में बोल सकते हैं लेकिन केरल में ऐसा नहीं हो सकता।

भारतीय जनता पार्टी के केरल इकाई के अध्यक्ष के. सुरेंद्रन। (इंडियन एक्सप्रेस फाइल)

भारतीय जनता पार्टी ने केरल के हालात पर गंभीर चिंता जताई है। वहां पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं की हत्या पर अपना कड़ा विरोध जताते हुए इसकी निष्पक्ष जांच की मांग की है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि दक्षिण का यह राज्य ‘‘सीरिया बनने की ओर बढ़ रहा’’ है। उनका कहना है कि वहां पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) समर्थित इस्लामिक आतंकवाद पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। वह बेलगाम हो गई है।

सुरेंद्रन ने पार्टी संघ कार्यकर्ताओं की हत्या के पीछे पीएफआई के शामिल होने का दावा करते हुए कहा कि यह संगठन भारत के लिए खतरा है। बोले. ‘‘…राज्य में इस्लामिक आतंकवाद तेजी से बढ़ रहा है। इस पर कोई नियंत्रण नहीं है। पूरे राज्य में मांस की हलाल दुकानों की बाढ़ सी आ गई है…केरल सीरिया बनने की ओर बढ़ रहा है, यह आम जन की भावना है।’’

सुरेंद्रन के साथ संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन और भाजपा प्रवक्ता राजीव चंद्रशेखर भी मौजूद थे। सुरेंद्रन ने अन्य भाजपा नेताओं के साथ सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी और उन्हें केरल में पीएफआई की गतिविधियों से अवगत कराते हुए उन्हें बताया कि राज्य की पिनराई विजयन सरकार की ओर से इस सिलसिले में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

पत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि केरल में हिंसा का यह पैटर्न वास्तव में राज्य की अर्थव्यवस्था और यहां के लोगों को नुकसान पहुंचा रहा है। कहा कि अगर इसके पीछे अपराधियों पर मुकदमा चलाए बिना सरकार इस प्रकार की हिंसा होते देती रहेगी तो यह राज्य के बारे में एक नकारात्मक प्रभाव पैदा करेगा। यह राज्य पहले से ही कमजोर अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की तुष्टीकरण की राजनीति से केरल के लोगों को नुकसान होगा।

विदेश और संसदीय मामलों के राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा कि दुनिया के किसी भी हिस्से में लोग इस्लामिक आतंकवाद के बारे में बोल सकते हैं लेकिन केरल में ऐसा नहीं हो सकता।

सुरेंद्रन ने यह आरोप भी लगाया कि केरल पुलिस हत्या के मामलों में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है और वहां की सत्ताधारी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (cpm) और पीएफआई में साठगांठ है। भाजपा की राज्य इकाई ने आरोप लगाया कि हत्या के मामलों के पीछे पीएफआई की राजनीतिक शाखा सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) के कार्यकर्ताओं का हाथ है। हालांकि, एसडीपीआई ने भाजपा के इन आरोपों को खारिज कर दिया है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट