BJP Protest Against Delhi Law Minister Jitender Singh Tomar Over Fake Degree - Jansatta
ताज़ा खबर
 

डिग्री विवाद: भाजपा समर्थकों का प्रदर्शन, ‘आप’ मंत्री तोमर की बर्खास्तगी की मांग

दिल्ली के कानून मंत्री जितेन्द्र सिंह तोमर की बर्खास्तगी की मांग को लेकर बड़ी संख्या में भाजपा समर्थकों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निवास के बाहर आज प्रदर्शन किया। तोमर बिहार के एक विश्वविद्यालय...

Author April 29, 2015 5:29 PM
केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के मामले में ‘दोहरे मापदंड’ अपनाने का आरोप लगाते हुए उपाध्याय ने कहा, ‘‘वह सरकारी अधिकारियों पर भ्रष्ट होने की बात करते हैं, लेकिन क्या सभी अधिकारी भ्रष्ट हैं?’’ (फ़ोटो-पीटीआई)

दिल्ली के कानून मंत्री जितेन्द्र सिंह तोमर की बर्खास्तगी की मांग को लेकर बड़ी संख्या में भाजपा समर्थकों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निवास के बाहर आज प्रदर्शन किया। तोमर बिहार के एक विश्वविद्यालय से कानून की फर्जी डिग्री लेने के आरोपों का सामना कर रहे हैं।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय के नेतृत्व में प्रदर्शनकारी तख्तियां लेकर सड़कों पर नारेबाजी कर रहे थे। उपाध्याय ने बताया, ‘‘दिल्ली सरकार ने दिल्ली के लोगों को बेवकूफ बनाया। जिस तरीके से दिल्ली सरकार का एक मंत्री नकली डिग्री लिए हुए हैं, हमारे पास इस गर्मी में सड़कों पर आने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। इस मामले में हम कानून का सहारा भी ले सकते हैं और अगर जरूरत हुई, तो प्राथमिकी भी दर्ज कर सकते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम इस मुद्दे को जनता की अदालत में उठा रहे हैं और तब तक आंदोलन को बंद नहीं करेंगे, जब तक तोमर को पद से हटाया नहीं जाता। इस तरह की अराजकता जारी नहीं रह सकती।’’

केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के मामले में ‘दोहरे मापदंड’ अपनाने का आरोप लगाते हुए उपाध्याय ने कहा, ‘‘वह सरकारी अधिकारियों पर भ्रष्ट होने की बात करते हैं, लेकिन क्या सभी अधिकारी भ्रष्ट हैं?’’

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी पार्टी के तिलक नगर के विधायक जरनैल सिंह के खिलाफ दायर प्राथमिकी का क्या हुआ, जिसने दिल्ली के दक्षिण नगर निगम के इंजीनियर पर हमला किया था और उसे अपनी सरकारी ड्यूटी करने से रोका था। उन्हें पहले अपनी ही पार्टी की बेईमानी से निपटना चाहिए।’’

हालांकि, तोमर ने उन पर लगे सभी आरोपों को सिरे से नकार दिया है और इस्तीफा देने से मना कर दिया है। तोमर ने आरोप लगाया कि यह विवाद आम आदमी पार्टी की छवि को धूमिल करने के लिए भाजपा का एक षडयंत्र है। उन्होंने कहा कि ‘पद से हटने का कोई सवाल ही नहीं है’, क्योंकि उनके खिलाफ न तो कोई प्राथमिकी दर्ज की गई है और न ही किसी अदालत ने कोई ऐसी बात कही है।’’

उन्होंने कल केजरीवाल से भी मुलाकात की और ज्ञात हुआ है कि उन्होंने इस समूचे मुद्दे पर स्पष्टीकरण दिया है। भाजपा एवं कांग्रेस द्वारा तोमर को हटाने की मांग के बावजूद ऐसा माना जा रहा है कि केजरीवाल उन्हें इस मामले में समर्थन दे रहे हैं।

एक याचिका में तोमर पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने ‘फर्जी और नकली’ डिग्री के आधार पर स्वयं का अधिवक्ता के रूप में नामांकन करवाया है। इस पर सोमवार को बिहार के तिल्का मांझी विश्वविद्यालय ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक हलफनामा पेश किया है, जिसमें कहा गया है कि तोमर का अस्थायी प्रमाण-पत्र ‘नकली’ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App