ताज़ा खबर
 

अमित शाह बोले- मानता हूं, मैंने गलती की, पर कर्नाटक की जनता नहीं करेगी

कर्नाटक विधानसभा चुनाव को देखते हुए प्रचार अभियान जोरों पर है। भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने मैसूर में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया और कांग्रेस के अध्‍यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथ लेते हुए राज्‍य में बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्‍या की निंदा की।

मैसूर में मीडिया से मुखातिब बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह, बीएस. येदियुरप्‍पा और अनंत कुमार।

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार अभियान जोरों पर है। भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने इस सिलसिले में शुक्रवार (30 मार्च) को मैसूर में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्‍होंने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी पर सीधा हमला बोला। बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा, ‘जुबान फिसलने के कारण मैंने सिद्धारमैया (कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री) के बजाय बीएस. येदियुरप्‍पा सरकार को भ्रष्‍ट बोल दिया था। इसके बाद पूरी कांग्रेस पार्टी ही खुशियां मनाने लगी थी। मैं राहुल गांधी को बताना चाहता हूं कि मैं गलती कर सकता हूं, लेकिन कर्नाटक की जनता नहीं।’ दरअसल, अमित शाह 27 मार्च को कर्नाटक में प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। उन्‍होंने राज्‍य की सिद्धारमैया सरकार पर जमकर हमला बोला था। इसी दौरान उनकी जुबान फिसल गई और सिद्धारमैया के बजाय अपनी ही पार्टी के मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार बीएस. येदियुरप्‍पा को भ्रष्‍ट बता दिया था। शाह ने कहा था, ‘यदि भ्रष्टाचार में प्रतिस्पर्धा हो तो येदियुरप्पा सरकार को इस प्रतियोगिता में पहला स्थान मिल जाएगा।’ शाह के साथ मौजूद भाजपा के अन्‍य नेताओं ने उन्हें याद दिलाया कि गलती से उन्होंने अपने ही नेता का नाम ले लिया है। इसके बाद शाह ने अपनी गलती मानते हुए कहा था कि उनका तात्‍पर्य वर्तमान की सिद्धारमैया सरकार से था। इसको लेकर सोशल मीडिया के अलावा कांग्रेस नेताओं ने भी भाजपा अध्‍यक्ष की चुटकी लेने शुरू कर दी थी।

भाजपा-संघ कार्यकर्ताओं की हत्‍या पर कांग्रेस पर हमला: भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने कांग्रेस के शासनकाल में कर्नाटक में भाजपा और राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) कार्यकताओं की हत्‍या का भी मुद्दा उठाया। अमित शाह ने कहा, ‘कांग्रेस के शासनकाल में भाजपा और संघ कार्यकर्ताओं की हत्‍या की निंदा करता हूं। चौबीस से ज्‍यादा कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं, इसके बावजूद पुलिस ने उन हत्‍यारों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। वे अभी भी आजाद घूम रहे हैं। सिद्धारमैया के खात्‍मे का दिन करीब आ गया है। भाजपा के सत्‍ता में आने के बाद न्‍याय सुनिश्चित की जाएगी।’ भाजपा पूर्व में भी कांग्रेस सरकार पर संघ और पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्‍या करने वालों के खिलाफ पर्याप्‍त कार्रवाइ न करने का आरोप लगाती रही है। बीजेपी विधानसभा चुनावों में इसे मुद्दा बनाने की जुगत में है।

मई में होंगे चुनाव: निर्वाचन आयोग ने कर्नाटक विधानसभा चुनावों की तिथि घोषित कर दी है। चुनाव 12 मई और मतगणना 15 मई को होगा। बता दें कि चुनाव से जुड़ी तिथियों को जारी करने को लेकर भी विवाद हो गया था। भाजपा के अमित मालवीय ने आयोग से पहले ही ट्वीट कर तिथियों की सूचना सार्वजनिक कर दी थी। वहीं, कर्नाटक कांग्रेस के सोशल मीडिया प्रभारी श्रीवत्‍स बी. ने भी औपचारिक घोषणा से पहले ही तिथियों की जानकारी दे दी थी। चुनाव आयोग ने मामले की जांच के लिए छह सदस्‍यीय समिति गठित की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App