ताज़ा खबर
 

इलाहबाद में BJP की National Executive meet, जानिए मीटिंग से जुड़ी 6 अहम बातें

दो दिन तक चलने वाली इस मीटिंग में पीएम नरेंद्र और अमित शाह भी हिस्सा लेंगे।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी का यह कार्यक्रम दो दिन तक चलेगा। (फाइल फोटो)

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 को ध्यान में रखते हुए बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी मीटिंग रविवार (12 जून) को इलाहबाद में शुरू की जाएगी। दो दिन तक चलने वाली इस मीटिंग में पीएम नरेंद्र और अमित शाह भी हिस्सा लेंगे। लोकसभा चुनाव 2014 में 80 में से 71 सीटें जीतने वाली बीजेपी यूपी विधान सभा में भी अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती है। इसके लिए पार्टी के कई बड़े नेता भी चुनाव की रणनीति तैयार करने के लिए इलाहबाद पहुंचेंगे। बीजेपी की इस मीटिंग में 6 बातें ध्यान रखने वाली होंगी-

यूपी का एजेंडा: यूपी विधानसभा के लिए रणनीति तैयार किया जाना इस कार्यक्रम का प्रमुख उदेश्य है। बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, ‘इलाहबाद जवाहरलाल नेहरू से लेकर वीपी सिंह तक की राजनीति का गवाह रहा है। कार्यक्रम को यहां रखने से जरूर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगे।’

पहली बार हो रही है यहां मीटिंग: बीजेपी ने पहली बार इस कार्यक्रम को करने के लिए इलाहबाद को चुना है। जो की अपने आप में खास बात है।

पोस्टर की होड़: इस कार्यक्रम की वजह से पूरा यूपी ही पोस्टर से भरा हुआ लगने लगा है। हर गली, चौराहे पर पीएम मोदी और बाकी नेताओं के पोस्टर लगे हुए हैं। सभी में ‘मिशन 265’ के लक्ष्य का भी जिक्र किया गया है।

Read also: यूपी: नेताओं में पोस्‍टर वार, मोदी विरोधी संजय जोशी, वरुण गांधी के बैनर लगाए गए, भाजपा परेशान

सीएम केंडिडेट को लेकर विवाद: यूपी बड़ा राज्य है और हर कोने में अलग-अलग नेता को पंसद करने वाले लोग मौजूद हैं। ऐसे में योगी आदित्यनाथ, स्मृति ईरानी और वरुण गांधी के समर्थकों में पोस्टर वार भी वक्त-वक्त पर दिखाई देता है। राजनाथ सिंह को भी सीएम केंडिडेट बनाने की भी बात सामने आई थी। हालांकि, अभी पार्टी की तरफ से किसी के नाम पर मुहर नहीं लगाई गई है। हो सकता है कार्यक्रम में किसी नाम को फाइनल कर दिया जाए।

समाजवादी पार्टी को बनाया जाएगा निशाना: इस मीटिंग में मुख्य रुप से यूपी की सत्ताधारी पार्टी समाजवादी पार्टी को निशाना बनाया जाएगा। श्रिकांत शर्मा ने कहा, ‘मीटिंग में यूपी के गुंडाराज पर बात होगी। समाजवादी पार्टी के राज में इसको बढ़ावा मिला है। मथुरा में इसका ताजा उदाहरण देखने को भी मिला था। ‘

इस मीटिंग में केंद्र सरकार की दो साल की उपलब्धियां भी गिनवाई जा सकती हैं। खबरों के मुताबिक, यह काम पीएम मोदी ही करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App