ताज़ा खबर
 

भाजपा सांसद ने हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर पर कसा तंज, कांग्रेस से ही चिपके रहोगे!

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि हिमाचल के सीएम डलहौजी का नाम बदलने के मामले में कांग्रेस के ही साथ रहेंगे। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की बात भी याद दिलाई।

Edited By अंकित ओझा नई दिल्ली/शिमला | Updated: June 10, 2021 9:57 AM
भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर कहा है कि वे जल्द ही सोशल मीडिया ऐप कू के जरिए मैसेज भेजना शुरू करेंगे। (एक्सप्रेस फोटो: कमलेश्वर सिंह)

हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्थल डलहौजी का नाम बदलने को लेकर एक बार फिर चर्चा गरम है। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इसे लेकर राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय को पत्र भी लिखा था। अब उन्होंने हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर पर तंज कसते हुए कहा है कि लगता है वह कांग्रेस से ही चिपके रहेंगे।

एक ट्वीट में स्वामी ने लिखा, ‘ये सभी हिंदू संगठनों, भाजपा कार्यकर्ताओं और वीएचपी, आरएसएस के लिए भी बहुत आश्चर्य की बात है हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने स्पष्ट शब्दों में कह दिया कि पूर्व सीएम शांता कुमार की बातों का सम्मान नहीं किया जाएगा। उन्होंने डलहौजी का नाम बदलकर नेताजी सुभाष नगर करने का विचार किया था। वो कांग्रेस का ही साथ देंगे।’

स्वामी ने राज्यपाल को लिखे पत्र में कहा था कि 1992 में पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने इसे लेकर अधिसूचना जारी की थी। बाद में कांग्रेस सरकार ने उस आदेश को पलट दिया। भाजपा सांसद ने राज्यपाल से कहा है कि वह 1992 की उस अधिसूचना को लागू करवाएं और डलहौजी का नाम बदलकर नेताजी सुभाष के नाम पर कर दें।

दरअसल अंग्रेजी शासनकाल के दौरान 1854 में इस शहर को बसाया गया था। उस समय के वायसराय डलहौजी के नाम पर इसका नाम रख दिया गया। हालांकि वह कभी डलहौजी नहीं आए। 1863 में यहां चर्च सेंट का निर्माण किया गया। यह भी कहा जाता है कि 1873 में रवींद्रनाथ टैगोर भी डलहौजी आए थे और उन्हें गीतांजलि लिखने की प्रेरणा यहीं से मिली थी।

1959 में तिब्बती शरणार्थियों को भी डलहौजी में भी बसाया गया। दलाई लामा भी कई बार डलहौजी का दौरा कर चुके हैं। बर्फबारी और सुहाने मौसम का आनंद लेने दुनियाभर से पर्यटक यहां पहुंचते हैं।

नेताजी के नाम पर इस खूबसूरत शहर का नाम रखने की बात इसलिए हो रही है क्योंकि साल 1973 में वह यहां आए थे। हालांकि डलहौजी के स्थानीय लोग और पर्यटन व्यवसायी नहीं चाहते कि इस जगह का नाम बदला जाए।

Next Stories
1 राजस्थान: घर के बाहर लगा आंबेडकर का पोस्टर तो लोगों ने कर दी पिटाई, दलित शख्स ने तोड़ा दम
2 एंकर ने आंदोलन पर उठाया सवाल तो बोले अकाली नेता- किसान नहीं हटेंगे पीछे, सरकार को कोरोना की चिंता तो रद्द करे कानून
3 इंस्टाग्राम के खिलाफ पुलिस में शिकायत, भगवान शिव को शराब व फोन के साथ दिखाने का आरोप
ये  पढ़ा क्या?
X