ताज़ा खबर
 

कोरोना: “वक्त पर न मिल रहा इलाज, अस्पतालों के बाहर मरीज तोड़ रहे दम”, CM योगी को BJP सांसद का खत

सांसद ने कानपुर जिले में कोविड-19 के मरीजों को ठीक से इलाज न मिलने का जिक्र करते हुए कहा कि रोगियों को समय से उपचार नहीं मिल पा रहा है और वह अपने घर, एंबुलेंस या अस्पतालों के बाहर दम तोड़ रहे हैं। कोविड-19 महामारी की पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में ज्यादा लोगों की मौत हो रही है।

BJP सांसद सत्यदेव पचौरी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा। (express file)

कानपुर से भारतीय जनता पार्टी (BJP)सांसद सत्यदेव पचौरी ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कोरोना की तीसरी लहर को लेकर एक नसीहत दी है। तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए पचौरी ने योगी से जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर पहले से ही तैयारी करने के निर्देश देने का आग्रह किया है।

पचौरी ने पत्र लिखकर आशंका जताई है कि भारत में कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर आ सकती है जो अपेक्षाकृत सबसे घातक होगी। सांसद ने कानपुर जिले में कोविड-19 के मरीजों को ठीक से इलाज न मिलने का जिक्र करते हुए कहा कि रोगियों को समय से उपचार नहीं मिल पा रहा है और वह अपने घर, एंबुलेंस या अस्पतालों के बाहर दम तोड़ रहे हैं। कोविड-19 महामारी की पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में ज्यादा लोगों की मौत हो रही है।

पचौरी ने पत्र में कहा कि सरकार को पहले से ही तीसरी लहर की तैयारी करनी चाहिए। मेडिकल स्टाफ, पैरामेडिकल स्टाफ, ऑक्सीजन, दवाओं तथा टीकाकरण की समुचित व्यवस्था करनी होगी ताकि कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर में लोगों को मुश्किलों का सामना न करना पड़े। सांसद ने मुख्यमंत्री से गुजारिश की है कि वह अधिकारियों के साथ बैठक कर तीसरी लहर से पहले इससे निपटने के पुख्ता इंतजाम करें। उन्होंने कहा कि वह यह महसूस करते हैं कि हर किसी को महामारी के दौरान चिकित्सीय सहायता मिलनी चाहिए।

यूपी में 26780 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। जबकि 353 की मौत हुई है। कुल 28902 मरीज संक्रमण मुक्त हुए हैं। प्रदेश में नए मरीजों की संख्या बीते एक सप्ताह में अब तक की सबसे कम संख्या है। इसी के साथ प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या भी घटकर 259844 हो गई है। इस तरह बीते एक सप्ताह में एक्टिव मरीजों की संख्या में 50939 की कमी आई है। 30 अप्रैल 2021 को प्रदेश में 310783 एक्टिव मरीज थे।

प्रदेश में सबसे अधिक 65 मरीजों की मौत लखनऊ में हुई है। इसके बाद कानपुर नगर में 49, मुजफ्फर नगर में 21, गाजियाबाद में 15, गौतमबुद्ध नगर में 13, मेरठ में 12, वाराणसी में 10 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में कुल 353 मरीजों की मौत हुई है।
(भाषा इनपुट के साथ)

Next Stories
1 तमिलनाडु: 10 साल बाद DMK की वापसी, स्टालिन बने CM, 2 अन्य बेटों को “नजरअंदाज कर” तब करुणानिधि ने एमके को चुना था सियासी वारिस
2 नई जिम्मेदारीः ”एनकाउंटर स्पेशलिस्ट” दया नायक का गोंडिया ट्रांसफर, कभी बिना हथियारों के नहीं निकलते थे बाहर
3 कोरोना के बीच UP के मुजफ्फरनगर में भगवान भरोसे सिस्टम! डॉक्टरों का काम कर रहीं नर्स, नर्स का वॉर्ड बॉय और वॉर्ड बॉय का परिजन
ये  पढ़ा क्या?
X