scorecardresearch

बीजेपी सांसद ने शेयर किया राहुल गांधी का ‘फेक’ वीडियो, Twitter ने ले लिया एक्शन; लग गया Stay Informed का बैनर

राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने निजी न्यूज चैनव के वीडियो को शेयर करते हुए लिखा था- ‘उदयपुर हो या वायनाड़, जेएनयू में ‘अफजल हम शर्मिंदा हैं’ और ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ गैंग के साथ खड़ी रहने वाली कांग्रेस का चरित्र वही रहता है।

rahul gandhi | congress | bjp
मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी (फोटो- @ANI)

बीजेपी सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी का फेक वीडियो शेयर किया था। जिस पर ट्वीटर ने एक्शन लेते Stay Informed का बैनर लगा दिया है।

राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने निजी न्यूज चैनव के वीडियो को शेयर करते हुए लिखा था- ‘उदयपुर हो या वायनाड़, जेएनयू में ‘अफजल हम शर्मिंदा हैं’ और ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ गैंग के साथ खड़ी रहने वाली कांग्रेस का चरित्र वही रहता है। जेहादी आतंक की विषबेल का बीज किसने बोया, किसने सींचा, खुद सोचिए।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से जुड़े इस वीडियो को बीजेपी के कुछ नेताओं द्वारा सोशल मीडिया पर शेयर किए जाने के बाद पार्टी हमलावर हो गई है। पार्टी ने कहा कि यह वीडियो ‘फर्जी खबर’ के रूप में फैलाया गया है और अगर भाजपा एवं उसके नेताओं ने इसके लिए माफी नहीं मांगी, तो उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, यह पूरा मामला एक न्यूज चैनल से संबंधित है। न्यूज चैनल ने एक वीडियो चलाया था, जिसमें दावा किया गया था कि राहुल गांधी ने उदयपुर के हत्यारों को ‘बच्चा’ कहा और उन्हें छोड़ देने की बात कही थी। कांग्रेस पार्टी की तरफ से कहा गया कि राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड स्थित उनके कार्यालय पर किए गए हमले के संदर्भ में पूर्व अध्यक्ष ने एक टिप्पणी की, जिसे चैनल ने उदयपुर की घटना से जोड़कर पेश किया। हालांकि, चैनल ने इस पर खेद व्यक्त किया है।

कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से राहुल गांधी का बयान शेयर किया गया है। साथ ही कहा गया है, “फेक न्यूज़ की बुनियाद पर भाजपाई हुकूमत अपनी ‘गोदी मीडिया’ के साथ मिलकर, राहुल गांधी जी को बदनाम करना चाहती है। उनकी छवि को खराब करने के लिए पहले भी हजारों-लाखों कोशिशें की जा चुकी हैं। लेकिन हर बार उन्हें मुंह की खानी पड़ी है।”

शुक्रवार को वायनाड पहुंचे राहुल गांधी ने वायनाड जिले के मुख्यालय कलपेट्टा में अपने कार्यालय का दौरा किया। उन्होंने कहा, “यह मेरा कार्यालय है, लेकिन मेरा कार्यालय होने से पहले यह वायनाड के लोगों का कार्यालय है। यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि कार्यालय पर हमला किया गया है। हिंसा से कभी समस्या का समाधान नहीं होगा। यह अच्छा नहीं है कि उन्होंने गैर-जिम्मेदाराना तरीके से काम किया है। मेरे मन में उनके प्रति कोई गुस्सा या दुश्मनी नहीं है। वे बच्चे हैं और वे अपने कृत्य के परिणामों को नहीं समझते हैं।’

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट