ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: भाजपा सांसद की IAS अ‍फसर को धमकी- तुम्‍हारी जिंदगी नर्क बना दूंगी

घटना के दौरान एसडीएम अजय द्विवेदी अपने दस्ते के साथ वहां अतिक्रमण हटवाने के लिए निकले थे। बीच में सांसद ने हस्तक्षेप किया और उन्हें धमकी दे डाली।

Author Updated: December 13, 2017 3:50 PM
प्रियंका सिंह रावत उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से भाजपा सांसद हैं। मंगलवार को उन्होंने अतिक्रमण हटाने के दौरान एक आईएएस अधिकारी को धमकी दी थी। (फोटोः फेसबुक)

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद प्रियंका सिंह रावत ने एक आईएएस अधिकारी को धमकी दी है। महिला सांसद ने कहा कि वह उसकी जिंदगी नर्क बना देंगी। यह बात वह अधिकारी से कैमरे में कहते हुए कैद हो गईं। घटना के दौरान एसडीएम अजय द्विवेदी अपने दस्ते के साथ वहां के गांव में अतिक्रमण हटवाने के लिए निकले थे। मगर बीच में सांसद ने हस्तक्षेप किया और उन्हें धमकी दे डाली। यह मामला मंगलवार का है। एसडीएम यहां के चैला गांव में पहुंचे थे, जहां सरकारी स्कूल और तालाब पर कुछ लोगों ने अवैध कब्जा कर लिया था। आरोप है कि यहां कब्जा स्थानीय भाजपा नेता आलोक सिंह ने कर रखा था। सरकारी दस्ता जब घटनास्थल पर पुलिस के साथ पहुंचा तो वहां भीड़ जुट गई। दोनों पक्षों में बहस होने लगी, जिसके बाद महिला सांसद वहां अपने समर्थकों के साथ आईं। वे इसी बाबत अधिकारी पर चिल्लाने लगीं और उससे जिरह करने लगीं। 31 वर्षीय सांसद ने कहा, “आपके सामने जब एक जनप्रतिनिधि खड़ी है, तब आपको प्रोटोकॉल याद रखना चाहिए। अगर मेरे सहयोगियों को जरा सी भी दिकक्त हुई, तो जीना मुश्किल कर दूंगी।”

यह पहला मौका नहीं है, जब महिला सांसद किसी विवाद से घिरी हों। वह इससे कैमरे में पुलिसकर्मी की खाल खिंचवाने देने की धमकी देते दिखी थीं। उनके इस बयान के पीछे की वजह पुलिसकर्मी का रवैया था, जो उन्हें रास नहीं आया था। सांसद से जब हाल में आइएएस अधिकारी के मामले को लेकर स्पष्टीकरण मांगा गया, तो उन्होंने इस पर अफसोस भी नहीं जाहिर किया।

चैला गांव में स्थानीय भाजपा नेता आलोक सिंह पर सरकारी स्कूल और तालाब पर अवैध कब्जा करने का आरोप है। आईएएस अधिकारी अपने दस्ते के साथ वहां अतिक्रमण हटाने गए थे, लेकिन बीच में महिला सांसद ने दखल दे दी। (फोटोः फेसबुक)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories