BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने सुबह की अजान पर जताई आपत्ति, कहा- लोगों की नींद होती है खराब, बोलीं- मंदिरों के लाउडस्पीकर पर मुस्लिम जताते हैं ऐतराज

बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अजान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि इससे नींद में खलल पड़ती है। इससे साधुओं और अन्य लोगों की साधना- पूजा प्रभावित होती है।

Pragya Singh Thakur, azan, bhopal mp
बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने अजान पर जताई आपत्ति (फाइल फोटो- पीटीआई)

हमेशा अपने विवादित बयानों के कारण चर्चाओं में बनी रहने वाली बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने इस बार अजान को लेकर आपत्ति जताई है। उन्होंने सुबह की अजान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि इससे नींद खराब होती है।

भोपाल से भारतीय जनता पार्टी की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने सुबह-सुबह अजान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि इससे साधुओं और अन्य लोगों की साधना- पूजा प्रभावित होती है। सांसद ने कहा- “सुबह 4 बजे से तेज आवाजें सुनाई देती हैं और इससे लोगों की नींद खराब हो जाती है, साधु-संत भी ज्यादातर ब्रह्म मुहूर्त में सुबह 4 बजे से ध्यान और साधना शुरू करते हैं, लेकिन लोग बिना किसी परवाह के हमें अपना शोर सुनाते रहते हैं”।

उन्होंने मरीजों को लेकर भी अजान पर आपत्ति जताई। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा- “किसी मरीज को रात भर नींद नहीं आती है, सुबह जैसे ही उसे नींद आती है कि ये आवाज उसमें विघ्न पैदा करती है”। प्रज्ञा ठाकुर मंगलवार को बैरसिया में एक धार्मिक सभा को संबोधित कर रही थीं, जिसमें स्थानीय भाजपा विधायक विष्णु खत्री भी मौजूद थे।

आगे मुस्लिम समुदाय पर निशाना साधते हुए कहा कि ज्यादातर आरती ब्रह्म मुहूर्त में सुबह 4 बजे शुरू होती है। जब हमारा समुदाय प्रार्थनाओं के लिए लाउडस्पीकर लगाता है तो वे आपत्ति करते हैं। वो कहते हैं कि वो किसी अन्य धर्म की इबादत का शब्द नहीं सुन सकते हैं, क्योंकि हमारे धर्म में यह ठीक नहीं माना जाता है, हमारे खिलाफ है ये, जायज नहीं माना जाता”। साध्वी आगे कहा कि वो भले ही चिंता ना करे, लेकिन हिन्दू धर्म करता है। क्योंकि हम सर्वपंथ, सद्भाव की भावना रखते हैं।

भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्हें एक सांसद के रूप में अपनी गरिमा को ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक धर्म की आवाज कभी दूसरे धर्म को आहत नहीं करती। वहीं कांग्रेस प्रवक्ता जेपी धनोपिया ने सांसद पर सांप्रदायिक अशांति पैदा करने का आरोप लगाया।

पहले भी साध्वी प्रज्ञा अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में बनी रही हैं। इससे पहले उन्होंने कहा था कि हिंदुओं के मंदिरों का धन अल्पसंख्यकों और विधर्मियों के पास जा रहा है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट