ताज़ा खबर
 

बंगाल में 2 कार्यकर्ताओं की हत्‍या: BJP सांसद बोले- एक्‍शन नहीं लिया तो लोगों को मुंह नहीं दिखा पाएंगे

दो कार्यकर्ताओं की मौत के बाद बीजेपी ने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह राज्य से विपक्ष का सफाया करना चाहती है, इसलिए ऐसा किया जा रहा है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी इन घटनाओं की घोर निंदा की है।

बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

पश्चिम बंगाल में दो दिनों के अंदर दो बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद अब राज्य का माहौल काफी गरमा गया है। वहीं बीजेपी इन मामलों को लेकर काफी गंभीर हो गई है। बीजेपी की ओर से इन घटनाओं के लिए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के ऊपर आरोप लगाए जा रहे हैं। बंगाल के आसनसोल से बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने भी दोनों कार्यकर्ताओं की हत्या को लेकर टीएमसी पर निशाना साधा है। सुप्रियो का कहना है कि अगल जल्द ही इन मामलों पर एक्शन नहीं लिया जाएगा तो वे जनता का सामना नहीं कर पाएंगे। उन्होंने कहा, ‘ममता बनर्जी के नेतृत्व और आदेश पर टीएमसी जो कुछ भी कर रही है वह नया नहीं है। अगर इन मामलों पर जल्द एक्शन नहीं लिया जाता है तो हम लोग जनता का सामना नहीं कर पाएंगे। यहां सबसे बड़ा मुद्दा टीएमसी और पुलिस के बीच मेलजोल का है। पुलिस हिंसा का समर्थन कर रही है।’

बता दें कि पुरुलिया जिले के बलरामपुर में ग्रामीण निकाय चुनाव में बीजेपी को मिली अपार सफलता के बाद पार्टी के 18 साल के कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो की लाश पेड़ पर झूलती मिली थी। दो दिन पहले महतो की लाश सुपुरदी गांव के एक पेड़ से झूलती मिली थी। महतो बीजेपी के यूथ विंग का सदस्य था। लाश के साथ ही पुलिस को एक नोट भी मिला था, जिसमें लिखा था, ’18 साल की उम्र में तुम बीजेपी की राजनीति कर रहे हो, आज तुम मारे गए।’ यही संदेश उसकी शर्ट पर भी लिखा था। वहीं शनिवार को भी पश्चिम बंगाल में एक अन्य बीजेपी कार्यकर्ता की लाश खंभे से लटकते मिली। पुरुलिया जिले के बलरामपुर इलाके के दाभा गांव में 32 वर्षीय बीजेपी कार्यकर्ता की लाश एक खंभेसे लटकते मिली। हालांकि पुलिस इस घटना को आत्महत्या मानकर चल रही है और इसी एंगल से मामले की जांच की जा रही है।

दो कार्यकर्ताओं की मौत के बाद बीजेपी ने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह राज्य से विपक्ष का सफाया करना चाहती है, इसलिए ऐसा किया जा रहा है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी इन घटनाओं की घोर निंदा की है और राज्य की टीएमसी सरकार पर कोई कारवाई ना करने का आरोप लगाया है। वहीं दूसरी तरफ टीएमसी ने इन सभी आरोपों को निराधार बताया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App