ताज़ा खबर
 

कांग्रेस सरकार की मुहिम की RSS ने की तारीफ, पर बीजेपी सोशल मीडिया पर कर रही विरोध, जानें- क्या है गोधन न्याय योजना?

गोधन न्याय योजना शुरू करने के बाद राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने राज्य सरकार की आलोचना की है।

Author नई दिल्ली | Updated: July 9, 2020 1:50 PM
chhattisgarh scheme for livestock ownersछत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल। (PTI)

छत्तीसगढ़ में गोधन न्याय योजना की घोषणा के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) से जुड़े लोगों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का अभिनंदन किया है। राज्य में गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान छत्तीसगढ़ के संयोजक भुनेश्वर साहू ने बताया कि गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान ने मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से भेंट कर सरकार के द्वारा गोबर खरीदने के ऐतिहासिक निर्णय के लिए उनका अभिनंन्दन किया। अभियान के संरक्षक बिसराराम यादव राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रांत संघचालक हैं।

साहू ने बताया कि विगत एक वर्ष से गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान के माध्यम से गौ रक्षा, जैविक कृषि तथा ग्राम स्वावलंबन के लिए सरकार के द्वारा गोबर और गौ मूत्र खरीदने की मांग को लेकर आंदोलन किया जा रहा था। इस बीच सरकार ने गोबर खरीदने का निर्णय लिया है इसके लिए अभियान की ओर से उनका अभिनंन्दन किया गया है। उन्होंने बताया कि अभियान ने मुख्यमंत्री से गोबर के साथ गौ मूत्र की खरीदी करने, जैविक उत्पाद के लिए अलग से जैविक बाजार के माध्यम से उत्पाद खरीदने की व्यवस्था करने, रासायनिक खाद में दी जाने वाली भारी भरकम सब्सिडी को कम करके जैविक कृषि को प्रोत्साहित करने तथा गाय कोठा निर्माण के लिए पशु पालकों को अनुदान राशि देने जैसी मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है।

Bihar, Jharkhand Coronavirus LIVE Updates

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में गौ पालक किसानों से गोधन न्याय योजना के माध्यम से गोबर खरीदने का फैसला किया है। राज्य सरकार के इस फैसले के बाद राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने राज्य सरकार की आलोचना की है। भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर राज्य सरकार के इस फैसले का लगातार सोशल मीडिया में विरोध कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने एक गाना ट्वीट किया था जिसमें राज्य सरकार पर निशाना साधा गया था कि राज्य सरकार अब राज्य के युवाओं की पढ़ाई की कुर्बानी देकर गोबर उठाने का कार्य करवाने की कोशिश कर रही है। अब आरएसएस से जुड़े लोगों द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का अभिनंदन करना राज्य में चर्चा का विषय है।

इसे लेकर गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान के संयोजक साहू कहते हैं कि वह आरएसएस से जुड़े हैं तथा किसानों के लिए काम करते हैं, लेकिन इस अभियान में केवल आरएसएस ही नहीं बल्कि अलग अलग संगठन के लोग भी जुड़े हुए हैं। अभियान का प्रयास है कि गौ धन रक्षा हो तथा देश में जैविक खेती को बढ़ावा मिले। राष्ट्रहित के कार्य में जो भी सहयोग करेगा अभियान की तरफ से उनका अभिनंदन किया जाएगा।

राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सच्चिदानंद उपासने ने इस मामले को लेकर कहा कि गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान पिछले लंबे समय से गौ पालकों से गोबर खरीदने समेत अन्य मांगों को लेकर आंदोलन कर रहा है। उनकी मांगे पूरी हुई तब उन्होंने मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया। इससे आरएसएस या भाजपा की भूमिका नहीं है।।

उपासने कहते हैं कि आरएसएस राजनीतिक संगठन नहीं है। संघ से जुड़े लोगों ने यदि अच्छा कार्य समझकर इस कार्य का अभिनंदन किया है तब इसे सकारात्मक ही लेना चाहिए। इधर सत्ताधारी दल कांग्रेस ने सवाल किया है कि जब पूर्व भाजपा सरकार में गायों पर अत्याचार हो रहा था तब आरएसएस के लोग कहां थे।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा सरकार के दौरान गौ शालाओं के अनुदान में भाजपा के नेता घोटाले करते रहे, गायों की हत्याएं होती रही तब आरएसएस के लोगों का गौ प्रेम कहां चला गया था। उन्होंने रमन सिंह सरकार को सीख क्यों नहीं दी। त्रिवेदी ने कहा कि ऐसा नहीं हो सकता है कि आप समय देखकर गौ भक्त बन जाएं और गौशालाओं के भ्रष्टाचार, गायों की हत्या तथा जनता के धन की लूट को देखकर आंखें बंद कर लें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला’, मीडिया वालों को देख चिल्ला उठा था विकास दुबे, कमर में हाथ डाल पुलिसवाले यूं ले गए अंदर
2 पटना के एनएमसीएच में दो दिन से कोरोना वार्ड में पड़े हैं डेडबॉडी, तेजस्वी यादव ने शेयर किया वीडियो
3 फुटपाथ पर रहकर मैट्रिक में फर्स्ट क्लास से पास करने पर मजदूर की बेटी को नगर निगम ने दिया फ्लैट, बोली- ‘अब IAS बनने का है सपना’
ये पढ़ा क्या?
X