ताज़ा खबर
 

मुस्लिम बीजेपी नेता ने की अयोध्या में मस्जिद बनाने की पैरवी, भड़क गए पार्टी कार्यकर्ता

बुक्कल नवाब पहले भी धार्मिक बातें कर और धार्मिक गतिविधियों में शामिल होकर मीडिया की सुर्खियां बनते रहे हैं। इसी वर्ष जुलाई में बुक्कल नवाब ने लखनऊ के जियामऊ स्थित राधा कृष्ण मंदिर में गोदान किया था। ऐसा करते हुए उन्होंने कहा था कि मरने के बाद परलोक में सुकून से रह सकें इसलिए गोदान कर रहे हैं।

Author Published on: October 25, 2018 9:14 PM
बीजेपी नेता बुक्कल नवाब। (फोटो- एएनआई)

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अल्पसंख्यक मोर्चे के एक कार्यक्रम में मुस्लिम बीजेपी नेता बुक्कल नवाब ने अयोध्या में राम मंदिर की जगह मस्जिद बनाने की बात की, जिस पर हंगामा कट गया। लखनऊ में गुरुवार (25 अक्टूबर) को आयोजित कार्यक्रम में बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब ने कहा कि क्यों ने राम मंदिर की जगह मस्जिद बना दी जाए तो मौके पर मौजूद लोगों ने उनको मंच से जाने के लिए कहा और विरोध में नारेबाजी की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिस वक्त अल्पसंख्यक मोर्चे की बैठक में बुक्कल नवाब ने मंदिर की जगह मस्जिद बनाने की बात कही, उस वक्त केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी वहां मौजूद थे। किसी तरह माहौल का शांत किया गया। लोगों के भारी विरोध पर प्रतिक्रिया देते हुए बुक्कल नवाब ने सफाई दी कि लोग उनकी बात समझ नहीं पाए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बुक्कल नवाब ने कहा कि राम मंदिर के अंदर कहा जाता है कि वहां मंदिर की जगह मस्जिद बना दी जाए। बुक्कल ने आगे कहा, ”अल्पसंख्यक मुस्लिम तो यही कहते हैं कि वहां मस्जिद बना दी जाए.. वहां मंदिर नहीं मस्जिद बना दी जाए चलो ठीक है.. और तुम्हारी मस्जिद बन भी जाती है.. और मस्जिद तैयार भी हो जाती है।”

आखिर में बुक्कल नवाब ने कहा, ”विवादित जगह पर नमाज पढ़ना हराम है।” बता दें कि बुक्कल नवाब पहले भी धार्मिक बातें कर और धार्मिक गतिविधियों में शामिल होकर मीडिया की सुर्खियां बनते रहे हैं। इसी वर्ष जुलाई में बुक्कल नवाब ने लखनऊ के जियामऊ स्थित राधा कृष्ण मंदिर में गोदान किया था। ऐसा करते हुए उन्होंने कहा था कि मरने के बाद परलोक में सुकून से रह सकें इसलिए गोदान कर रहे हैं। पत्रकारों से बात करते हुए बुक्कल नवाब ने गाय में देवी-देवताओं के स्थित होने की बात कही थी और कहा था कि गाय हमारी मां के समान है। राम मंदिर निर्माण को लेकर उस वक्त उन्होंने सहमति जताई थी।

बता दें कि 29 अक्टूबर से आयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होने वाली है। देश में एक बड़ा वर्ग लगातार राम मंदिर के निर्माण की मांग कर रहा है। 2019 लोकसभा चुनाव भी करीब हैं इसलिए यह मुद्दा गरमाया हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 दिल्ली में बढ़ा 11 गुणा प्रदूषण, दीपावली तक हालात होंगे और बदतर