यूपी: बीजेपी विधायक के बेटे को सात साल की जेल, नर्सिंग होम में की थी गोलीबारी - BJP MLA Son Sentenced to Seven Years in Case of Firing At A Nursing Home - Jansatta
ताज़ा खबर
 

यूपी: बीजेपी विधायक के बेटे को सात साल की जेल, नर्सिंग होम में की थी गोलीबारी

इस केस में नर्सिंग होम में वाहन पार्किंग को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया था। इस दौरान चली गोली लगने से गौरव की मौत हो गई थी, जबकि नर्सिंग होम का सुरक्षा गार्ड सुरेश कुमार पाण्डेय गंभीर रूप से जख्मी हो गया था।

Author गोण्डा | January 19, 2018 4:45 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

गोण्डा जिले में करीब छह वर्ष पूर्व हुए बहुर्चिचत गोलीकाण्ड में अदालत ने कटरा बाजार से भाजपा विधायक बावन सिंह के पुत्र समेत दोनों पक्षों के छह लोगों को सजा सुनाई है। प्रभारी जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) विनय कुमार सिंह ने बताया कि आठ मई 2012 को शहर के एक प्रतिष्ठित नर्सिंग होम में वाहन पार्किंग को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया था। इस दौरान चली गोली लगने से गौरव की मौत हो गई थी, जबकि नर्सिंग होम का सुरक्षा गार्ड सुरेश कुमार पाण्डेय गंभीर रूप से जख्मी हो गया था।

दोनों पक्षों की ओर से थाना नगर कोतवाली में अलग-अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था। दूसरे पक्ष के मुकदमे में विधायक के दूसरे पुत्र वैभव सिंह का भी नाम था। विशेष न्यायाधीश महेश नौटियाल ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद गुरुवार को भाजपा विधायक बावन सिंह के पुत्र वैभव सिंह को दो अलग-अलग आरोपों में दोषी ठहराते हुए सात-सात साल की कैद तथा 16 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। दोनों सजाएं एक साथ चलेंगी।

अदालत ने नर्सिंग होम पक्ष के चन्द्रमोहन मिश्रा, विश्वास पाण्डेय, पवन मिश्रा, सुरेश कुमार पाण्डेय तथा अवधेश तिवारी को गैर इरादतन हत्या का दोषी ठहराते हुए दस-दस साल की कैद की सजा सुनाई। वहीं दूसरी तरफ गोंडा से लगे गोरखपुर के बाहरी क्षेत्र में स्थित मानबेला गांव में गुरुवार को उस समय तनाव उत्पन्न हो गया, जब किसानों ने अपनी भूमि के जबरन अधिग्रहण के विरोध में प्रदर्शन किया। स्थिति नियंत्रित करने के लिए मौके पर बडी संख्या में पुलिस बल तैनात करना पड़ा।

पुलिस अधीक्षक (उत्तर) गणेश साहा ने संपर्क करने पर बताया कि भूमि अधिग्रहण को लेकर हम केवल उच्च न्यायालय के आदेश का पालन कर रहे हैं। बड़ी संख्या में किसान पुरानी दरों पर मुआवजे की रकम ले चुके हैं लेकिन अब वे नए सर्किल रेट, जो अधिक है, पर मुआवजे की मांग कर रहे हैं। किसान नेता शमीम अहमद ने कहा कि सरकार से उन्हें मिली मुआवजे की रकम काफी कम है। इस बीच कांग्रेस नेता राणा राहुल सिंह ने गरीब किसानों की भूमि अधिगृहीत करने के लिए गोरखपुर विकास प्राधिकरण की आलोचना की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App