ताज़ा खबर
 

भाजपा विधायक ने कहा- कोटा एयरपोर्ट जनता के लिए नहीं बना तो पीएम का प्‍लेन भी नहीं उतरने देंगे

भाजपा विधायक भवानी राजावत रविवार को एक पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र के उद्घाटन कार्यक्रम में बोल रहे थे।

BJP, MLA, Kota, bhawani singh rajawat, bihari, crime, kota, rajasthan govt, vashundhra rajeराजस्थान से भाजपा विधायक भवानी सिंह राजावत

राजस्थान के भाजपा विधायक भवानी राजावत ने अपने ही प्रधानमंत्री को चुनौती दे दी। दरअसल भाजपा विधायक कोटा के एयरपोर्ट को आम जनता के इस्तेमाल ना होने से नाराज थे। अपने भाषण में बोलते हुए कहा कि, ”कोटा एयरपोर्ट नेताओं और वीआईपी लोगों का है। यहां बड़े-बड़े नेता आते हैं और हवाई अड्डे पर उतर जाते हैं उन्हें लगता है कि कोटा में हवाई सेवा है लेकिन कोटा का पुराना हवाई अड्डा ये जनता का नहीं हैं, कोटा की जनता है ये नेताओं का हैं। अब तय कर लें कि अब इस हवाई अड्डे पर किसी वीआईवी नेता का जहाज यहां नहीं उतरेगा। चाहे देश के पीएम आ जाएं। उनका हवाई जहाज भी यहां नहीं उतरेगा। उन्हें इस बात का अहसास होना चाहिए कि जनता के लिए हवाई सेवा नहीं है।”

भाजपा विधायक भवानी राजावत रविवार को एक पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र के उद्घाटन कार्यक्रम में बोल रहे थे। इस दौरान उनसे किसी ने पूछा कि वो पासपोर्ट का क्या करेंगे जब शहर(कोटा) में एयरपोर्ट ही नहीं है। बिना एयरपोर्ट के देश के दूसरे शहरों से ही कनेक्टीविटी नहीं है। इसी का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि अगर कोटा की जनता के लिए बेहतर हवाई संपर्क नहीं दिया गया तो किसी वीआईपी या पीएम का विमान शहर में नहीं उतरने देंगे।

यह कोई पहला मौका नहीं है भाजपा विधायक भवानी राजावत ने कोई विवादित बयान दिया हो इससे पहले भी उन्होंने कई ऐसे बयान दिए हैं जिसको लेकर उनकी पार्टी को सफाई देनी पड़ी हो। नोटबंदी के बाद उनका एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो कथिक तौर पर कहते सुनते रहे थे कि “अंबानी-अडानी को नोटबंदी के बारे में पहले से ही पता था। इनको हिंट दे दी गई थी और इसके बाद उन्होंने अपना काम कर लिया।”

दो साल पहले उन्होंने संविधान को लेकर विवादित बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा था, ”संविधान को बनाने में चूक हुई, बहुत पहले ही भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए था।” उनके इस बयान के बाद काफी विवाद हुआ था। कुछ साल पहले उन पर तहसीलदार को थप्पड़ मारने का आरोप लगा था जिसके बाद उन पर एफआईआर भी दर्ज हुई थी। बताया जाता है कि   भवानी राजावत ने अतिक्रमण हटाने गए तहसीलदार को थप्पड़ मारा था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जम्मू-कश्मीर के उत्तरपश्चिम इलाके में भूकंप के झटके, 4.8 रिएक्टर थी तीव्रता
2 जम्मू-कश्मीर: एनकाउंटर करने गए जवानों पर स्थानीय लोगों ने पत्थर-लाठी से किया हमला, छीन ली बंदूक
3 पूर्व IFS अधिकारी और सांसद सैयद शहाबुद्दीन का 82 साल की उम्र में निधन
यह पढ़ा क्या?
X