ताज़ा खबर
 

‘थम नहीं रहीं धमकियां, जी रहे भगोड़ों वाली जिंदगी’, दलित से शादी करने वाली बीजेपी विधायक की बेटी ने बयां किया दर्द

करीब 2 महीने पहले साक्षी मिश्रा और अजितेश के 2 वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे, जिसके बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उन्हें पुलिस सुरक्षा देने का आदेश सुनाया था।

Author लखनऊ | Updated: September 16, 2019 8:33 AM
जुलाई 2019 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने साक्षी मिश्रा व अजितेश को पुलिस सुरक्षा दी थी। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के बिरहारी चैनपुर से बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा का एक और वीडियो सामने आया है। इसमें साक्षी ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा, ‘‘हमें धमकियां मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। मजबूरी में हमें भगोड़ों की जिंदगी जीनी पड़ रही है।’’ साक्षी ने एक बार फिर आरोप लगाया कि अंतरजातीय विवाह करने की वजह से पिता, भाई व उनके सहयोगी उसे व उसके पति को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। बता दें कि साक्षी ब्राह्मण हैं और उसके पति अजितेश दलित समुदाय से ताल्लुक रखते हैं।

गौरतलब है कि करीब 2 महीने पहले साक्षी व अजितेश के 2 वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। इसके बाद साक्षी व अजितेश ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी तो कोर्ट ने इस दंपती, अजितेश के माता-पिता व उनके वकील को पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश दिया था। बता दें कि 4 जुलाई को शादी करने वाले साक्षी व अजितेश राजधानी दिल्ली में थ्री-बीएचके किराए पर लेकर रह रहे हैं और 2 पुलिसकर्मी 24 घंटे उनके घर के बाहर तैनात रहते हैं।

National Hindi News, 16 September 2019 Top Updates LIVE: असम के बाद यूपी-हरियाणा में भी NRC लाने की तैयारी, योगी-खट्टर ने दिए संकेत

टाइल्स का कारोबार करने वाले अजितेश ने बताया, ‘‘पुलिसकर्मी हर जगह हमारे साथ होते हैं। हमें इंटरनेट के माध्यम से धमकियां दी जा रही हैं, जिससे हम काफी डरे हुए हैं।’’

साक्षी ने कहा, ‘‘हर जगह लोग हमारे वीडियो देख रहे हैं। हमें रोजाना वॉट्सऐप, फेसबुक पर धमकियां मिल रही हैं। कुछ लोग हमारे बारे में झूठी खबरें फैला रहे हैं और हमें धमका रहे हैं। कुछ समय पहले किसी ने यूट्यूब पर फेक न्यूज डाली थी, जिसमें बताया गया था कि मैंने अजितेश को तलाक दे दिया। इसके अलावा मेरे प्रेग्नेंट होने की झूठी खबर भी फैली थी। इन वीडियो के वायरल होने के बाद अनजान लोग हमें कॉल करके, टेक्स्ट मैसेज करके और वॉट्सऐप मैसेज भेजकर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। वे शादी करने के फैसले को लेकर हमें गालियां देते हैं। अपने किराए के घर के अलावा हमें कहीं भी सुरक्षित महसूस नहीं होता है।’’ साक्षी के मुताबिक, उन्होंने भोपाल में एक कॉलेज से पत्रकारिता के कोर्स में अप्लाई किया था, लेकिन डर की वजह से एंट्रेंस एग्जाम नहीं दे सकीं।

साक्षी ने बताया कि वह मुंबई में तीन महीने का एक्टिंग का कोर्स करना चाहती हैं, लेकिन उन्हें डर है कि सुरक्षा कारणों के चलते वह शायद ही इसे कंप्लीट कर पाएं। अजितेश ने कहा, ‘‘हमारी शादी के मुद्दे की वजह से मेरी पत्नी की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। मेरे कारोबार पर असर पड़ रहा है। मेरे लिए काम करने वाले ही कारोबार संभाल रहे हैं।’’

साक्षी ने कहा, ‘‘यूट्यूब पर झूठी खबरें फैलाने वाले कुछ न्यूज चैनल्स के खिलाफ मैंने शिकायत की थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। बरेली के थानों के पुलिस अफसर पल्ला झाड़ते हुए कहते हैं कि यह उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है। हमें न तो सामान्य जिंदगी जीने का मौका मिला और न ही सामान्य लोगों की तरह शादी करने का। यहां तक कि शादी के बाद से अब तक समाज की वजह से हम भगोड़ों की जिंदगी जी रहे हैं।’’

बरेली के वीर सावरकर नगर में रहने वाले अजितेश के पिता हरीश कुमार कहते हैं कि उन्हें साक्षी के पिता की ओर से धमकी का कोई भी कॉल नहीं आया। इसके बावजूद वह स्थानीय लोगों की वजह से डर के माहौल में जी रहे हैं। उनका कहना है कि लोग अब तक शादी को भूल नहीं पाए हैं। सोशल मीडिया पर अजितेश को मिलने वाले मैसेज देखकर हमें भी डर लगता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Article 370 पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, जम्मू-कश्मीर में पाबंदियों के खिलाफ भी होगी चर्चा
2 National Hindi News, 16 September 2019 Top Updates: गुलाम नबी आजाद को मिली जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत, CJI बोले- जरूरत पड़ी तो मैं भी जा सकता हूं
3 Indian Bank का कर्मचारी 3.77 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी में गिरफ्तार