scorecardresearch

पुणे में PFI कार्यकर्ताओं पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का आरोप, भड़के भाजपा विधायक नीतेश राणे, बोले- चुन-चुन के मारूंगा

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र या देश में कहीं भी अगर किसी ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए तो उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा।

पुणे में PFI कार्यकर्ताओं पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का आरोप, भड़के भाजपा विधायक नीतेश राणे, बोले- चुन-चुन के मारूंगा
पीएफआई समर्थकों का प्रदर्शन (Express Photo: Sushant Kulkarni)

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के सदस्यों की गिरफ्तारी और छापेमारी के खिलाफ पुणे में पीएपआई के समर्थकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इसे लेकर आरोप लगाए गए कि प्रदर्शन में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए हैं। इस आरोप में पुलिस ने 60 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस पर भारतीय जनता पार्टी के विधायक नीतेश राणे भड़क गए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा करने वालों को चुन-चुन कर मारूंगा।

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से एक पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने कहा कि पीएफआई के समर्थन में पुणे में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालों इतना याद रखना कि चुन-चुन कर मारेंगे।

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का भी इस पर बयान आया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र या देश में कहीं भी अगर किसी ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए तो उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसा करने वालों को सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी।

बता दें कि शुक्रवार को पीएफआई नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पुणे में जिला कलेक्ट्रेट के सामने अपनी पार्टी के सदस्यों की गिरफ्तारी और छापेमारी के खिलाफ प्रदर्शन किया था। पुलिस के मुताबिक, इस दौरान 42 लोगों को हिरासत में लिया गया था और चेतावनी नोटिस जारी किए जाने के बाद रात में उन्हें छोड़ दिया। इसके बाद शनिवार की सुबह बुंदगार्डन पुलिस स्टेशन में 60 से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

इससे पहले गुरुवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राज्य की एजेंसियों के साथ मिलकर पीएफआई के खिलाफ टेरर फंडिंग के आरोपों की जांच के सिलसिले में कई राज्यों में छापेमारी की थी। महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने भी राज्य में एक कार्रवाई शुरू की थी और 12 स्थानों पर छापे मारे थे। इस कार्रवाई में पीएफआई से जुड़े 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

वहीं, ईडी ने दावा किया है की पीएफआई ने पटना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली को निशाना बनाने की प्लानिंग की थी। इसके लिए संगठन संवेदनशील इलाकों में हमले शुरू करने के लिए आतंकी मॉड्यूल, घातक हथियारों और विस्फोटकों को जुटाने में लगे थे। ईडी ने यह भी कहा कि 12 जुलाई को पीएम की पटना यात्रा के दौरान पीएफआई ने हमला करने के लिए एक ट्रेनिंग कैंप का भी आयोजन किया था।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 24-09-2022 at 07:50:10 pm
अपडेट