ताज़ा खबर
 

विनोद खन्ना के बाद उनकी पत्नी को लोकसभा सीट पर चुनाव लड़वा सकती है बीजेपी

विनोद खन्ना का 27 अप्रैल को मुंबई के एचएन रिलायंस फाउंडेशन एंड रिसर्च सेंटर में निधन हो गया था।

विनोद खन्ना और उनकी पत्नी कविता।

पंजाब में बड़ा चेहरा रहे एक्टर विनोद खन्ना के निधन के बाद उनकी पत्नी कविता को बीजेपी चुनावी मैदान में उतार सकती है। इस सीट पर उपचुनाव होना अभी बाकी है। गुरदासपुर की सीट बीजेपी के लिए काफी मजबूत मानी जाती है, क्योंकि विनोद खन्ना इस सीट से चार बार सांसद रह चुके हैं। स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं ने भी उनकी पत्नी के नाम का समर्थन किया है। विनोद खन्ना पहली बार साल 1998 में लोकसभा के लिए चुने गए थे हर साल 2009 तक वह इस सीट पर सांसद रहे। 2009 में चुनाव हारने के बाद साल 2014 में उन्हें फिर इस सीट से उतारा गया और उन्होंने 1.9 लाख वोटों से जीत हासिल की। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक उनके निधन के बाद खाली हुई इस सीट पर उनकी पत्नी कविता को बतौर उम्मीदवार उतारा जा सकता है।

विनोद खन्ना का 27 अप्रैल को मुंबई के  एचएन रिलायंस फाउंडेशन एंड रिसर्च सेंटर में निधन हो गया था। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को मालाबार हिल स्थित उनके घर पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था। यहां पर बड़ी संख्या में लोगों ने अपने प्रिय अभिनेता के अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी थी। इस मौके पर फिल्मी जगत की तमाम हस्तियां इस महान एक्टर को अंतिम विदाई देने पहुंची थीं। मुंबई के वर्ली स्थित श्मशान घाट पर सदी के महानायक अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, सुभाष घई, अभिनेत्री दीया मिर्या, ऋषि कपूर, अक्षय खन्ना समेत कई हस्तियों ने पहुंचकर नम आंखों से विनोद खन्ना को आखिरी विदाई दी थी।

बता दें कि विनोद खन्ना के निधन से करीब एक हफ्ते पहले संजय दत्त उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे थे। जब वहां उन्होंने विनोद खन्ना को इस हालत में देखा तो वह भावनाओं से भर उठे थे। संजय दत्त और विनोद खन्ना की इस मुलाकात की बातें भूमि फिल्म के प्रोड्यूसर संदीप सिंह ने बताई थीं। उन्होंने बताया था, संजू सर और मैं विनोद सर से मिलने के लिए बांद्रा से साथ निकले थे। हम दक्षिण मुंबई में शूटिंग कर रहे थे। शूटिंग शुरू होने से पहले संजू सर ने मुझे कहा था , मैं पहले जाकर अपने पिता (विनोद खन्ना) से मिलना चाहता हूं। मैंने उनसे बहुत सी चीजें सीखीं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App