ताज़ा खबर
 

केजरीवाल पर मुकदमा चलाने के लिए स्‍वामी ने मांगी एलजी से इजाजत

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एलजी नजीब जंग को चिट्ठी लिखकर केजरीवाल और मनीष सिसोदिया के खिलाफ केस दर्ज करने की इजाजत मांगी है। स्वामी का दावा है कि केजरीवाल और सिसोदिया दोनों ने अपने पहले कार्यकाल में एक निजी फर्म को लाभ पहुंचाया है।

Author नई दिल्ली | January 28, 2016 8:51 PM
स्वामी का आरोप है कि केजरीवाल और सिसोदिया ने एक निजी कंपनी से चंदा हासिल करने में आम आदमी पार्टी की सहायता की और इसके बदले में उसे गैरकानूनी फायदे पहुंचाए।

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने आज उपराज्यपाल नजीब जंग से दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत मुकदमा चलाने की इजाजत मांगी है। उनका आरोप है कि केजरीवाल ने मुख्यमंत्री के तौर पर अपने पहले कार्यकाल के दौरान एक निजी कंपनी से चंदा हासिल करने में आम आदमी पार्टी की सहायता की और इसके बदले में उसे गैरकानूनी फायदे पहुंचाए।

जंग को लिखी चिट्ठी में स्वामी ने उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर भी मुकदमा चलाने की इजाजत मांगी है। उन्होंने दावा किया है कि सिसोदिया ने वित्त मंत्री के तौर पर अपने पहले कार्यकाल में वैट टैक्स में हेराफेरी करके एक प्राइवेट फर्म को लाभ पहुंचाया है।

स्वामी ने आरोप लगाते हुए लिखा है कि मुख्यमंत्री के तौर पर अपने पहले कार्यकाल में अरविंद केजरीवाल और तत्कालीन वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने गैर कानूनी तौर पर मैसर्स एसकेएन एसोसिएट्स लिमिटेड को फायदा पहुंचाया। कंपनी का नाम उल्लंघनकर्ताओं की सूची में था, जो 28 दिसंबर 2013 को केजरीवाल के सत्ता संभालने से 10 दिन पहले जारी की गई थी।

स्वामी का आरोप है कि केजरीवाल और सिसोदिया ने  इस कंपनी से वसूली करने की बजाय इससे आम आदमी पार्टी के लिए चंदा मांगना शुरू कर दिया। स्वामी का दावा है कि एसकेएन एसोसिएट्स की चार सहयोगी कंपनियों ने आप को कुल 2 करोड़ रूपए चंदा दिया है। फर्म को बिजली के मशीनें, एयरकंडिशनर, एलपीजी और सीएनजी गैस की सप्लाई सहित कई ठेके दिये गये। एलजी को लिखे अपने पत्र में स्वामी ने इसे पद और सार्वजनिक धन का दुरूपयोग बताया है, जो भ्रष्टाचार निरोधक कानून की धारा 13 :1: :डी: के तहत आता है

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App