ताज़ा खबर
 

भाजपा नेता का विवादित बयान- ईश्वरीय शक्ति ने मुन्ना बजरंगी की हत्या के लिए प्रेरित किया

भाजपा विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह ने मुन्ना बजरंगी की हत्या पर खुशी जताते हुए कहा कि जो जैसा करेगा, उसे इस धरती पर उस तरह का भुगतना होगा। ईश्वरीय शक्ति ने मुन्ना की हत्या के लिए प्रेरित किया।

भाजपा विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह का विवादित बयान (Photo credit- ANI)

अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले उत्तर प्रदेश के बैरिया से भाजपा विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह ने एक बार फिर मुन्ना बजरंगी की हत्या पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने मुन्ना की हत्या पर खुशी जताते हुए कहा कि ईश्वरीय शक्ति ने मुन्ना की हत्या के लिए प्रेरित किया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि कानून ने न्याय देने में देर की। उन्होंने कहा कि मुन्ना बजरंगी मारा गया। मैं कहता हूं कि यह ईश्वरीय व्यवस्था है। संविधान भले ही देर लगाए लेकिन उपर वाले ने किसी न किसी के दिमाग में प्रेरित कर दिया। इससे यह प्रमाणित हो गया कि जो जैसा करेगा, उसे इस धरती पर उस तरह का भुगतना होगा। उसकी मौत जेल में जरूर हुई है, लेकिन सृष्टि को चलाने वाला जिसे दंड दिलवाना चाहता है, जिस माध्यम से दिलवाना चाहता है, दिलवाता है। निश्चित रूप से जिसने किया है, उसने भी अपराध किया है। लेकिन एक अपराधी को मार कर के उसके द्वारा किए गए अपराध का न्याय उपर वाले दिया है।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

उन्होंने कहा कि मैं तो इसे ईश्वरीय व्यवस्था मानता हूं। मैं इसे संविधान की व्यवस्था नहीं, उपर वाले की व्यवस्था मानता हूं। मैं व्यक्तिगत रूप से इस घटना से पूरी तरह से खुश हूं। जिसने कई सारी बहू-बेटियों का सुहाग उजाड़ा है, उसे ऐसी ही सजा मिलनी चाहिए। एक अपराधी के द्वारा अपराधी मारा गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि पैसे के बल पर जेल में क्या नहीं हो सकता। पैसे देकर ही असलहा लाया गया होगा। कहीं न कहीं इसमें जेलकर्मियों की भूमिका जरूर रही होगी। बता दें कि सोमवार को उत्तर प्रदेश के बागपत जेल में कुख्यात मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

यह पहली बार नहीं है जब सुरेंद्र सिंह ने इस तरह का बयान दिया है। इससे पहले उन्होंने बलात्कार की बढ़ती घटनाओं पर कहा था कि मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि भगवान राम भी इस तरह की घटनाओं को नहीं रोक पाते। यह समाज का स्वभाविक प्रदूषण है। इससे कोई भी बचने वाला नहीं है। संस्कार के बल पर ही इसपर नियंत्रण होगा। संविधान के बल पर नियंत्रण नहीं होगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि कोई भी 3-4 बच्चों की मां के साथ बलात्कार नहीं कर सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App