ताज़ा खबर
 

अमित शाह ने आदिवासी के घर खाने का किया दिखावा? ममता का दावा- 5 स्टार होटल से मंगाया था खाना

ममता बनर्जी ने कहा कि वह दिखावे की राजनीति नहीं करती। वह फाइव स्टार होटल से खाना मंगा कर आदिवासी के घर खाने का नाटक नहीं करतीं।

MAMTA BANARJEE, AMIT SHAHममता बनर्जी ने इसे चुनावी स्टंट कहा है।

हाल ही में केंद्रीय गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जिले का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने एक आदिवासी के घर खाना खाया था। आदिवासी परिवार के साथ केंद्रीय मंत्री के खाना खाने की तस्वीरें भी सामने आई थीं। अब राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे दिखावा करार देकर बीजेपी पर हमला बोला है। न्यूज एजेंसी ‘PTI’ के मुताबिक ममता बनर्जी ने कहा कि बांकुड़ा जिले में आदिवासी के घर अमित शाह का जाना दिखावा था। उन्होंने दावा किया जो खाना अमित शाह ने खाया था वो फाइव-स्टार होटल में बनाया गया था।

पश्चिम बंगाल में अगले 6 महीने के अंदर ही विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। यहां अपनी जीत का डंका बजाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अभी से ही अपनी पूरी ताकत झोंकनी शुरू कर दी है। हाल ही में पार्टी के चुनावी अभियान के तहत केंद्रीय गृहमंत्री दो दिवसीय दौरे पर पश्चिम बंगाल पहुंचे थे। बांकुड़ा जिले में आदिवासियों की आबादी काफी घनी है। साल 2019 के आम चुनाव में बीजेपी ने यहां से जीत भी हासिल की थी।

जब अमित शाह बांकुड़ा पहुंचे तब उन्होंने एक आदिवासी परिवार के घर खाना खाया। जमीन पर बैठ कर खाने खाते हुए गृहमंत्री की तस्वीरें भी सामने आई थीं। चतुर्दिही गांव के रहने वाले विभीषण हंसदा के घर में शाह ने केले के पत्ते पर शाकाहारी भोजन खाया था। जो तस्वीरें सामने आई थीं उसमें दाल, चावल, रोटी और अन्य पके भोजन केले के पत्ते पर रखे गए थे और केंद्रीय मंत्री ने यहीं खाना खाया था।

अमित शाह के साथ उस वक्त पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय और प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष भी नजर आए थे। उन्होंने एक चारपाई पर बैठ कर कई कल्याणकारी योजनाओं का ऐलान भी उस वक्त किया था।

बहरहाल अब सोमवार को बांकुड़ा के खत्रा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ममता ने आदिवासी वोटों को तृणमूल कांग्रेस के पाले में लाने के लिए कई वादे किए एवं बड़ी घोषणाएं की। ममता ने इस दौरान बिरसा मुंडा की जयंती (15 नवंबर) पर अगले वर्ष से राज्य में सरकारी छुट्टी का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि वह दिखावे की राजनीति नहीं करती। वह फाइव स्टार होटल से खाना मंगा कर आदिवासी के घर खाने का नाटक नहीं करतीं। समाज के विशिष्ट लोगों का सम्मान एवं आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों का विकास उनकी सरकार दिल से करती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मध्यप्रदेशः युवक ने नहीं पहना था मास्क, कड़ाके की सर्दी में एसडीएम ने मुंह पर फेंका पानी; देखें वीडियो
2 भाजपा पंचायत चुनाव में केंद्रीय मंत्री भेज रही है आप अंदरुनी लड़ाई में उलझे हैं, एंकर ने कांग्रेस समर्थक से किया सवाल तो मिला ये जवाब
3 असम के पूर्व सीएम तरुण गोगोई का निधन, 50 साल से अधिक का रहा राजनीतिक सफर
कोरोना टीकाकरण
X