ताज़ा खबर
 

किसानों ने कर ली आत्महत्या, विपक्ष ने विधानसभा में उठाया मुद्दा

कांग्रेस ने 1 जनवरी 2014 से लेकर 30 जून 2016 तक सेहोर जिले में किसानों की आत्महत्या के सही-सही आंकड़े पूछे थे।

Author भोपाल | January 11, 2018 4:22 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

सेहोर जिले के 3 किसानों ने भूत-प्रतों के प्रभाव में आकर आत्महत्या कर ली। यह हम नहीं मध्य प्रदेश के गृह विभाग के अधिकारी कह रहे हैं। इछावर विधानसभा के विधायक शैलेंद्र पटेल ने जब सरकार से विधानसभा में किसानों की आत्महत्या को लेकर बुधवार (20 जुलाई) को सवाल किया तो सरकार की ओर से यह जवाब मिला।

Read Also: Gaurav Tiwari death: कुलधरा और भानगढ़ दोनों घूमकर आए थे गौरव , लेकिन सिर्फ एक जगह ‘भूत’ से टकराए

कांग्रेस ने 1 जनवरी 2014 से लेकर 30 जून 2016 तक सेहोर जिले में किसानों की आत्महत्या के सही-सही आंकड़े पूछे थे। मामला प्रश्नकाल के दौरान तब तूल पकड़ा जब शैलेंद्र ने स्पीकर को बताया कि आंकड़ों पूछे जाने के जवाब में उन्हें बताया गया है कि जिले में किसानों की आत्महत्या के लिए भूत-प्रेत जिम्मेदार हैं। शैलेंद्र ने स्पीकर से कहा कि सरकार को इस सवाल का जवाब देने की जरूरत है कि क्या वे भूत-प्रेतों में यकीन करते हैं। कांग्रेस की ओर से पूछे गए इस सवाल पर भाजपा के विधायक बगलें झांकते नजर आए।

Read Also: Gaurav Tiwari Death: भूत नहीं, पत्नी की वजह से खुदकुशी करने को मजबूर हुए गौरव !

हालांकि बाद में गृह राज्य मंत्री भूपेंद्र सिंह ने भाजपा की ओर से साफ किया कि जिले में पिछले 3 साल में कुल 418 आत्महत्याएं हुई हैं। और जहां तक भूतों द्वारा आत्महत्या के लिए उकसाए जाने का सवाल है तो सरकार ने प्रत्येक आत्महत्या के आंकड़ों के सामने उसके कारणों का उल्लेख किया है, और यह कारण हमें मृतकों के परिवार की ओर से दिए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X