ताज़ा खबर
 

राज्‍यसभा चुनाव: कांग्रेस उम्‍मीदवार ने समय सीमा खत्‍म होने के बाद भरा पर्चा- बीजेपी ने की शिकायत

गुजरात सें कांग्रेस के टिकट पर नारायण भाई राठवा के पर्चे भरे जाने को लेकर राजनीतिक घमासान मच गया है। बीजेपी ने समय-सीमा खत्म होने के बाद पर्चा भरे जाने की बात कहते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।

Author नई दिल्ली | March 14, 2018 2:58 PM
गुजरात से कांग्रेस के राज्यसभा प्रत्याशी नारायण भाई राठवा( फोटो-यूट्यूब)

गुजरात सें कांग्रेस के टिकट पर नारायण भाई राठवा के पर्चे भरे जाने को लेकर राजनीतिक घमासान मच गया है। बीजेपी ने समय-सीमा खत्म होने के बाद पर्चा भरे जाने की बात कहते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। उधर महज एक के भीतर  सात विभागों से नोड्यूज जारी होने की शिकायत पर लोकसभा अध्यक्ष ने जांच के निर्देश दिए हैं। पूर्व लोकसभा सदस्य नारायण भाई राठवा ने बीजेपी पर नामांकन पत्र रद्द करने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। कहा है कि बीजेपी लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है। उनके खिलाफ झूठी शिकायतें कराकर नामांकन पत्र रद्द कराने की कोशिश हो रही है। पूर्व लोकसभा सदस्य नारायण भाई राठवां को इस बार कांग्रेस ने गुजरात से राज्यसभा के चुनाव में उतारा है।

उनके नामांकन पत्र को खारिज करने की मांग को लेकर भाजपा सांसद सुरेश अंगड़ी ने लोकसभा सचिवालय में शिकायत की है।सवाल उठाते हुए कहा है कि कैसे सात विभागों से सिर्फ 45 मिनट के अंदर राठवा को नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जारी कर दिए गए। भाजपा सांसद ने पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि राज्यसभा नामांकन के लिए साढ़े तीन बजे उन्हें सर्टिफिकेट जारी हुआ। जबकि नामांकन की समय-सीमा आधा घंटे पहले ही खत्म हो चुकी थी। पत्र के मुताबिक नारायण भाई राठवा ने 12 मार्च को 2:25 पर नोड्यूज के लिए नामांकन किया।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Panasonic Eluga A3 Pro 32 GB (Grey)
    ₹ 9799 MRP ₹ 12990 -25%
    ₹490 Cashback

एक घंटे के भीतर साढ़े तीन बजे उन्हें नोड्यूज का प्रोविजिनल सर्टिफिकेट जारी कर दिया गया। तब जाकर उन्होंने नामांकन किया। जबकि गुजरात की खाली सीटों पर राज्यसभा नामांकन की समय-सीमा दिन में तीन बजे तक ही तय थी। भाजपा ने राज्यसभा आवेदन में समय-सीमा उल्लंघन का आरोप लगाया और और आवेदन को खारिज करने की मांग की। भाजपा सांसद ने कहा कि समय-सीमा बीतने के आधे घंटे बाद गुजरात में राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन किए जाने को वह इलेक्शन कमीशन में चुनौती देंगे। उधर इस मसले पर राठवा ने कहा कि उन्हें राज्यसभा में जाने से रोकने की बीजेपी कोशिश कर रही है। यह एक प्रकार से लोकतंत्र की हत्या है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App