ताज़ा खबर
 

कश्मीर में संयम से काम ले रही सरकार : शाहनवाज

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने शनिवार यहां दावा किया कि जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार देश-विरोधी काम कर रहे लोगों के साथ सख्ती से निपट रही है।

Author रांची | July 24, 2016 4:54 AM
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने शनिवार यहां दावा किया कि जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार देश-विरोधी काम कर रहे लोगों के साथ सख्ती से निपट रही है। लेकिन भाजपा की सरकार वहां हैंडल विद केयर की नीति पर काम कर रही है, क्योंकि वहां अपने देश के दिग्भ्रमित लोगों से निपटना है। शाहनवाज हुसैन ने यहां जम्मू-कश्मीर में बिगड़े हालात के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि जम्मू-कश्मीर में भाजपा-पीडीपी की गठबंधन सरकार ने बिगड़े हालातों को बहुत संयम से संभाला। जम्मू-कश्मीर की अवाम अपने देश की है, अत: उसके साथ सीमा के आगे सख्ती नहीं की जा सकती है।

यह पूछे जाने पर कि आज के हालात में कश्मीर घाटी में अमरनाथ यात्रा पर गए लोग भी पत्थरबाजों के हाथों पिट रहे हैं और वहां तैनात सेना तक उनकी कोई मदद नहीं कर रही है, ऐसे में मोदी के 56 इंच के सीने के बारे में क्या समझा जाए, इस पर शाहनवाज ने कहा, ‘अपने देश के लोगों से निपटने के लिए 56 इंच का सीना नहीं किया जाता है। 56 इंच का सीना दुश्मनों से निपटने के लिए है। अब तो यह सीना 56 इंच का ही नहीं दो इंच और बड़ा 58 इंच का हो गया है।’

उन्होंने स्पष्ट किया कि कश्मीर में पत्थरबाजी कर रहे उपद्रवियों से सरकार सख्ती से निपट रही है लेकिन वहां के लोग देश के नागरिक हैं और पाकिस्तान और अलगाववादियों द्वारा भड़काए गए हैं लिहाजा उनके खिलाफ एक सीमा से आगे सख्ती नहीं की जा रही है। इस सवाल पर कि आखिर इतने हालात बिगड़ने के बावजूद कश्मीर में सेना का उपयोग क्यों नहीं किया गया, शाहनवाज ने कहा कि उनकी सरकार पर अनेक लोग तो बहुत अधिक सख्ती करने का इल्जाम लगा रहे हैं लेकिन यहां तो सख्ती न किए जाने की बात कही जा रही है।

उन्होंने कहा, ‘सरकार सावधानी के साथ बल प्रयोग कर रही है, क्योंकि वहां लड़ाई दुश्मन से नहीं अपने लोगों से है। उन्हें समझाना और बहकावे से बाहर लाना आवश्यक है।’ यह पूछे जाने पर कि क्या पाकिस्तान के मामले में भारत की कूटनीति विफल हो गई है, शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘मैं मानता हूं कि पाकिस्तान के मामले में नरेंद्र मोदी सरकार की कूटनीति विफल नहीं हुई है। जहां तक प्रधानमंत्री के स्वयं पिछले वर्ष अचानक पाकिस्तान जाकर वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मिलने और उनको जन्मदिन की शुभकामना देने की बात है, तो कूटनीति में प्रयास करना अपना धर्म होता है। लेकिन उसका सफल होना या सफल नहीं होना अपने हाथ में नहीं होता है।’

शाहनवाज ने दो टूक पाकिस्तान को चेताया, ‘पाकिस्तान के टुकड़े-टुकड़े हो जाएंगे। कश्मीर लेने के ख्वाब में वह बिखर जाएगा। लिहाजा पाकिस्तान को यह ख्वाब सदा के लिए छोड़ देना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान की सरजमीं पर ‘पाकिस्तान जिन्दाबाद’ के नारे लगाने की छूट किसी भी हाल में नहीं दी जाएगी, जो ऐसा करने की कोशिश करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App