ताज़ा खबर
 

निगम उपचुनाव के नतीजे से भाजपा को झटका

राजस्थान में अजमेर और अलवर लोकसभा उपचुनाव की तैयारी में लगी भाजपा को जयपुर नगर निगम के उपचुनाव के नतीजे से करारा झटका लगा है।
Author अजमेर | October 7, 2017 02:39 am
(Agency)

राजस्थान में अजमेर और अलवर लोकसभा उपचुनाव की तैयारी में लगी भाजपा को जयपुर नगर निगम के उपचुनाव के नतीजे से करारा झटका लगा है। जयपुर के वार्ड नंबर 76 में हुए उपचुनाव में कांग्रेस के इकरामुद्दीन ने भाजपा के अशोक अग्रवाल को बडेÞ अंतर से हरा दिया। इसके अलावा प्रदेश के चार छोटे कस्बों की पालिकाओं के उपचुनाव में भाजपा ने तीन सीटें जीत लीं, पर उसे जयपुर की हार ने चौंका दिया। इससे पहले हुए पंचायत उपचुनाव में भी कांग्रेस ने भाजपा पर बढ़त बनाते हुए 25 में से 13 सीटें जीती थीं। पंचायत के बाद शहरी निकायों के उपचुनावों के नतीजों से भाजपा की चिंता बढ़ गई है।
भाजपा के कब्जे वाले जयपुर नगर निगम में कांग्रेस की जोरदार जीत ने अब दो लोकसभा सीटों के होने वाले उपचुनाव को रोचक बना दिया है। जयपुर में मिली जीत के बाद कांग्रेस में खासा उत्साह पनप गया है। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष राजीव अरोड़ा का कहना है कि जयपुर में भाजपा की हार से साफ हो गया है कि जनता अब बदलाव चाहती है। जनता में महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी को लेकर भाजपा के प्रति गहरी नाराजगी है। प्रदेश का किसान और युवा वर्ग भी भाजपा सरकार की नीतियों से परेशान हो उठा है। जयपुर नगर निगम में रिकार्ड वोटों से कांग्रेस को मिली जीत ही संकेत देती है कि अगले साल होने वाले चुनाव में भाजपा की हार तय है।

अरोड़ा ने दावा किया कि आने वाले समय में होने वाले अजमेर और अलवर लोकसभा के उपचुनाव में भी कांग्रेस की जीत तय है। नगर निगम के वार्ड 76 के उपचुनाव में मतदान बहुत कम हुआ था। इसके बावजूद कांग्रेस उम्मीदवार इकरामुददीन ने बडेÞ अंतर से भाजपा के अशोक अग्रवाल को हराया।
अरोड़ा का कहना है कि प्रदेश का युवा भाजपा सरकार से नाराज है। अजमेर और अलवर लोकसभा उपचुनाव के लिए भाजपा कितनी भी तैयारी कर ले, उसकी हार तय है। पूरे प्रदेश में बदलाव की हवा चल रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट की किसानों की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के इलाके झालावाड में हुई सफल पदयात्रा से कार्यकर्ताओं में उत्साह का माहौल है। राज्य चुनाव आयोग के अनुसार शुक्रवार पांच शहरी निकायों में उपचुनाव की मतगणना हुई। इसमें जयपुर नगर निगम में कांग्रेस को जीत मिली है। टोंक जिले की मालपुरा पालिका में भी कांग्रेस जीती है। करौली जिले की टोडाभीम, सीकर की लोसल और पाली की फालना नगर पालिका के एक-एक वार्ड में भाजपा को सफलता मिली है।

प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी आनंद शर्मा का कहना है कि इन उपचुनावों के नतीजों से अजमेर और अलवर लोकसभा सीटों के उपचुनाव में कोई फर्क नहीं पडेÞगा। उनका कहना है कि जयपुर नगर निगम की बड़ी हार चौंकाने वाली जरूर है, पर यह सीट पहले भी कांग्रेस के पास ही थी। इसके अलावा अन्य जगहों पर भाजपा को जीत मिली है। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अजमेर और अलवर लोकसभा उपचुनाव की तैयारियों में लगी हुई है। राजे ने शुक्रवार को अजमेर के पुष्कर में दौरा कर पार्टी को मजबूती देने का काम किया है। प्रदेश भाजपा की 9 अक्तूबर को अलवर में बैठक होगी। इसमें मुख्यमंत्री राजे सहित पूरी सरकार अलवर में रहेगी और लोकसभा उपचुनाव जीतने की रणनीति बनाई जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.