ताज़ा खबर
 

क्या नीतीश कुमार को बेटी पैदा होने का डर था? विधानसभा में तेजस्वी के बयान पर हंगामा, जदयू ने जताया कड़ा ऐतराज

बिहार विधानसभा सत्र के आखिरी दिन तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर जमकर निजी हमले किया। उन्होंने कहा, क्या नीतीश जी को बेटी पैदा होने का डर था इसलिए दूसरा बच्चा नहीं पैदा किया?

tejashwi yadav, nitish kumarतेजस्वी यादव ने सदन में नीतीश कुमार पर किए निजी हमले।

बिहार विधानसभा सत्र के आखिरी दिन सदन में जमकर हंगामा हुआ। दरअसल राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के बाद नेता प्रतिपक्ष को बोलने का वक्त दिया गया तो तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निजी टिप्पणी करने लगे। इसपर बीजेपी और जेडीयू के विधायकों ने कड़ा ऐतराज जताया और जमकर हंगामा किया। स्पीकर विजय सिन्हा ने भी उन्हें नसीहत देते हुए ऐसी भाषा का इस्तेमाल न करने को कहा। उन्होंने उनके शब्दों को असंसदीय करार देते हुए कार्यवाही से हटाने को कहा।

तेजस्वी यादव को जब बोलने का मुद्दा मिला तो उन्होंने चुनाव के दौरान कही गई बातों पर फिर से बोलना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा, ‘प्रचार के दौरान नीतीश कुमार कहते थे कि लालू यादव को 9 बच्चे हुए। कहते थे कि बेटी पर भरोसा नहीं था। बेटा के लिए 9 बच्चे हुए। तो क्या नीतीश कुमार जी को लड़की पैदा होने का डर था कि उन्होंने दूसरा बच्चा पैदा नहीं किया।’ तेजस्वी की इन बातों पर बार-बार स्पीकर ने भी टोका लेकिन वह निजी हमले करते गए।

बिहार के उपख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद ने कहा कि तेजस्वी का बयान शर्मनाक है। उन्होंने कहा, ‘तेजस्वी यादव को सदन की मर्यादा का पालन करना चाहिए। यह गलत परंपरा की शुरुआत है। मुख्यमंत्री के लिए ऐसी भाषा का प्रयोग नहीं होना चाहिए।’ तेजस्वी जब बोल रहे थे तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनकी बात सुनकर मुस्कुराते रहे। वहीं आरजेडी नेता सुबोध राय ने तेजस्वी का बचाव किया और कहा कि सदन में व्यक्तिगत हमले नहीं होने चाहिए लेकिन अगर कोई दूसरा व्यक्ति ऐसा करेगा तो जवाब दो देना ही पड़ेगा।


बिहार विधानसभा सत्र के अंतिम दिन राज्यपाल के अभिभाषण के बाद पूर्व संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया। भाजपा विधायक राणा रणधीर सिंह ने उनके प्रस्ताव का अनुमोदन किया। तेजस्वी जब बोलने लगे तो स्पीकर विजय सिन्हा ने भी टोकते हुए कहा, ‘निजी बातों की बजाए विकास की बात करें।’ तेजस्वी यादव ने यह भी कहा, कि अगर सत्ता पक्ष के लोग टोकाटोकी करेंगे तो वह सदन नहीं चलने देंगे। बिहार विधानसभा में आज विपक्षी दलों ने कृषि कानून को वापस लेने की भी मांग की। विधायक नारेबाजी करते हुए सदन के बीच में इकट्ठे हो गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बाढ़ राहत राशि को 3 माह से काट रहे थे चक्कर, अब CO ने रिश्वत को फैलाए हाथ! औरतों ने चप्पलों से पीट-पीटकर दिखाया आक्रोश
2 रामविलास पासवान की जगह पत्नी को राज्यसभा भेजने की चर्चा, पर बीजेपी दे सकती है अपना उम्मीदवार, एलजेपी को धोना पड़ सकता है हाथ
3 इन सारी गड़बड़ियों के ज़िम्मेदार मेवालाल चौधरी ही हैं, उन्होंने खुद भी माना है- पढ़िए नियुक्ति घोटाले की जांच रिपोर्ट में क्या लिखा है
ये पढ़ा क्या ?
X