ताज़ा खबर
 

तेज प्रताप का आरोप- घरवालों को गंवार कहती थीं ऐश्वर्या, पिता को टिकट देने का भी बनाया दबाव 

तेजप्रताप और ऐश्वर्या राय की शादी बिहार की सबसे चर्चित और हाई प्रोफाइल शादी मानी जाती है। इस शादी में कम से कम 50 हजार लोगों ने शिरकत की थी। ये शादी इसी साल यानी 12 मई 2018 को हुई थी।

शनिवार (12 मई) को पटना के वेटनरी कॉलेज में तेजप्रताप यादव और ऐश्वर्या राय की शादी हुई। (फोटो-पीटीआई)

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का कुनबा प्रदेश का सबसे शक्तिशाली परिवार समझा जाता है। लेकिन इसी परिवार के बड़े बेटे तेजप्रताप का परिवार अब बिखरने की कगार पर है। महज छह महीने पहले हुई शादी को तोड़ने के लिए तेजप्रताप ने पटना के फैमिली कोर्ट में मामला दायर कर दिया है। तलाक की अर्जी देते ही दोनों के रिश्ते के बारे में कई खबरें सामने आने लगी हैं। परिवार तेजप्रताप को समझाने-बुझाने में लगा है लेकिन तेजप्रताप के तेवर से ऐसा नहीं लगता है कि वह अपने कदम वापस लेने के मूड में हैं।

पिता लालू प्रसाद से रांची के रिम्स अस्पताल में मिलने के लिए गए तेज प्रताप यादव रविवार (4 नवंबर, 2018) को पटना लौट आए। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत में भी कई संकेत दिए हैं। तेजप्रताप ने मीडिया से बातचीत में जो बातें कहीं हैं उनसे संकेत मिलता है कि उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय ने भी उन्हें तलाक के लिए उकसाया था। पटना फैमिली कोर्ट में दायर की गई अर्जी के मुताबिक, तेज प्रताप और उनकी पत्नी के बीच शादी के एक महीने बाद ही मारपीट तक की ​नौबत आ गई थी। ये सारा घटनाक्रम घर के मुखिया लालू प्रसाद की आंखों के सामने हुआ था।

यहां क्लिक करके देखें तस्‍वीरें –

tej pratap yadav, lalu yadav son, tej pratap yadav cycle, tej pratap Aishwarya rai, lalu yadav, rjd, troll, social media, patna news, Bihar news, Hindi news, News in Hindi, Jansatta तेज प्रताप यादव अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय के साथ। फोटो-इंस्टाग्राम/tejpratapyadavrjd

तेजप्रताप ने अपनी अर्जी में अपनी पत्नी पर ससुराल वालों को उपकृत करने के लिए दबाव बनाने का भी आरोप लगाया है। तेजप्रताप ने अपनी अर्जी में लिखा है कि ऐश्वर्या राय चाहती थीं कि उनके पिता चंद्रिका राय को छपरा से लोकसभा का टिकट मिले। अर्जी के मुताबिक, ऐश्वर्या उनसे कहती थीं कि अगर छपरा से तुम उन्हें टिकट भी नहीं दिलवा सकते तो तुमसे शादी करने का फायदा क्या है? बता दें पटना के फैमिली कोर्ट में दायर इस वाद पर अब अगली सुनवाई 29 नवंबर को होनी है। बताया जाता है कि तेजप्रताप ने अपनी अर्जी में तीन मांगें की हैं।

पहली- हिन्दू विवाह अधिनियम 13 (1) (1a) के तहत तलाक।
दूसरी- अधिनियम 14(1) के तहत शादी के एक साल के अंदर तलाक की मांग।
तीसरी- धारा 22 के तहत अदालत में सुनवाई की प्रक्रिया बंद कमरे में करने और इसे मीडिया में प्रकाशित न करने की मांग।

तेज प्रताप यादव द्वारा दी गई तलाक की अर्जी में एक वाकये का जिक्र भी किया गया है। शिकायत के अनुसार, 9 और 11 जून को तेज प्रताप और ऐश्वर्या के बीच झगड़ा हुआ था। झगड़े के दौरान बात इस कदर बढ़ गई कि दोनों ने एक-दूसरे पर पानी फेंक दिया। इसकी वजह से दोनों के बीच मारपीट भी हुई थी। अर्जी में जिक्र है कि दोनों के बीच जुलाई और अगस्त के महीने में भी विवाद हुआ था।

मीडिया से बातचीत के दौरान तेजप्रताप ने इन विवादों का जिम्मेदार ऐश्वर्या को ठहराया है। तेजप्रताप का आरोप है कि ऐश्वर्या परिवार में दरार डालना चाहती थीं। वह चाहती थीं कि तेज प्रताप अपने भाई तेजस्वी प्रसाद से अलग हो जाएं। इसके अलावा ऐश्वर्या लालू की बेटियों के अपनी जिंदगी में दखल को पसंद नहीं करती थीं। आहत तेजप्रताप ने यहां तक कहा कि उनकी पत्नी विवाद के बाद उनसे कहती थीं कि तुम मुझसे तलाक क्यों नहीं ले लेते हो?

तेजप्रताप और ऐश्वर्या राय की शादी बिहार की सबसे चर्चित और हाई प्रोफाइल शादी मानी जाती है। इस शादी में कम से कम 50 हजार लोगों ने शिरकत की थी। ये शादी इसी साल यानी 12 मई 2018 को हुई थी। तेजप्रताप के माता-पिता राबड़ी देवी और लालू प्रसाद दोनों ही बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं। जबकि ऐश्वर्या राय के दादा दारोगा प्रसाद राय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं। ऐश्वर्या के पिता चं​द्रिका राय मंत्री रह चुके हैं और वर्तमान में राजद से ही विधायक हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App