ताज़ा खबर
 

‘शिव अवतार’ में तेज प्रताप! भगवान का ‘रूप’ धर डमरू बजाया, शंख फूंका, पूजा-पाठ कर फिर चल पड़े बाबाधाम

पूजा-पाठ करने के बाद तेज प्रताप झारखंड के देवघर में स्थित बाबा बैद्यनाथ मंदिर (बाबाधाम) के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर उन्होंने कहा कि वो अपने पिता लालू प्रसाद यादव के स्वास्थ्य और प्रदेशवासियों की कुशल कामना के लिए जलाभिषेक करने जा रहे हैं।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव आज (31 जुलाई) नए रूप-रंग में नजर आए। उन्होंने भगवान शिव का रूप धारण कर पटना के एक शिव मंदिर में पूजा-अर्चना की और फिर वहां से अपने लाव लश्कर के साथ देवघर के लिए रवाना हो गए।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव आज (मंगलवार, 31 जुलाई) नए रूप-रंग में नजर आए। उन्होंने भगवान शिव का रूप धारण कर पटना के एक शिव मंदिर में पूजा-अर्चना की और फिर वहां से अपने लाव-लश्कर के साथ देवघर के लिए रवाना हो गए। मंदिर में उनकी पूजा का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें तेज प्रताप ललाट पर भस्म लगाए हुए हैं। हाथ में डमरू है, गले में रुद्राक्ष की माला है और कमर में बाघ की खाल जैसा दिखने वाले गमछा लपेटे हुए हैं और बदन पर गुरेआ रंग की गंजी पहने हुए हैं। वो मंदिर में शंख भी फूंक रहे हैं। पूजा-पाठ करने के बाद तेज प्रताप झारखंड के देवघर में स्थित बाबा बैद्यनाथ मंदिर (बाबाधाम) के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर उन्होंने कहा कि वो अपने पिता लालू प्रसाद यादव के स्वास्थ्य और प्रदेशवासियों की कुशल कामना के लिए जलाभिषेक करने जा रहे हैं। बता दें कि सावन के महीने में बड़ी संख्या में लोग देवघर जाकर बाबा बैद्यनाथ धाम में जलाभिषेक करते हैं।

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब लालू के इस लाल ने कोई रूप धरा हो। इससे पहले तेज प्कारताप यादव ने पिछले साल जनवरी 2017 में स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए भगवान कृष्ण का रूप धारण किया था और गायों के बीच बंसी बजाकर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया था। तेज प्रताप अक्सर अलग-अलग अंदाज में सुर्खियों में बने रहते हैं। पिछले दिनों वो अपने विधान सभा क्षेत्र में भी जमीन पर बैठकर सत्तू-प्याज खाकर और हैंडपंप पर खुले में स्नान कर सुर्खियां बटोर चुके हैं।

चार दिन पहले ही साइकिल यात्रा पर निकले तेज प्रताप पटना में इको पार्क के पास गिर गए थे। उनके साथ सुरक्षाकर्मी और राजद के कार्यकर्ता भी साइकिल यात्रा पर थे। बाद में पार्टी कार्यकर्ताओं ने उन्हें उठाया था। पिछले महीने तेज प्रताप ने पार्टी में आरएसएस के लोग घुस आए हैं, और उन्हें वो चोड़ेंगे नहीं, ऐसा कहकर राजद के भीतर खलबली मचा दी थी। उनके पिता लालू प्रसाद को तब मुंबई से आनन-फानन में पटना लौटना पड़ा था, जबकि ऑपरेशन करने वाले डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने की सलाह दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App