ताज़ा खबर
 

अटक सकता है लालू का पैरोल, आरजेडी विधायक का दावा- उठ भी नहीं पा रहे लालू!

भोला यादव ने आरोप लगाया कि रिम्स प्रशासन प्राइवेट लैब जांच एजेंसी (मेडॉल) की गलत रिपोर्ट के आधार पर मेडिकल बुलेटिन जारी कर रहा है।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Photo Source: PTI)

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के खासमखास और उनके साए की तरह हर दम साथ रहने वाले राजद विधायक भोला यादव ने आरोप लगाया है कि लालू प्रसाद यादव की स्थिति दिनोदिन खराब होती जा रही है लेकिन रिम्स प्रशासन कह रहा है कि वो स्वस्थ हैं। भोला यादव ने आरोप लगाया है कि सरकार के इशारे पर राजद अध्यक्ष के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। बतौर भोला यादव लालू प्रसाद नहीं उठ पा रहे हैं। उनकी तकलीफ बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि उनके मेडिकल रिपोर्ट से छेड़छाड़ किया जा रहा है। भोला यादव ने आरोप लगाया कि रिम्स प्रशासन प्राइवेट लैब जांच एजेंसी (मेडॉल) की गलत रिपोर्ट के आधार पर मेडिकल बुलेटिन जारी कर रहा है। उन्होंने रिम्स प्रशासन ने अपने लैब में लालू यादव का सभी टेस्ट कराने की मांग की है। राजद विधायक के इस दावे से लालू यादव का पैरोल अटक सकता है। उन्होंने बड़े बेटे तेजप्रताप की शादी में शामिल होने के लिए पांच दिनों के पैरोल के लिए जेल प्रशासन को आवेदन दिया है। तेज प्रताप की शादी 12 मई को है। इसके लिए रिम्स निदेशक की मंजूरी भी जरूरी है। अगर उनकी सेहत ठीक नहीं रही तो रिम्स प्रशासन पैरोल से इनकार कर सकता है।

भोला यादव ने बताया कि जब लालू यादव को रिम्स से एम्स भेजा जा रहा था, तब टोटल काउंट (संक्रमण की जांच) 12,000 था। एम्स में इलाज के दौरान यह घटकर 11,100 हो गया। जब लालू एम्स से फिर रिम्स आए तब टोटल काउंट 11,400 था। इसके दो दिन बाद यानी चार मई को जब फिर टोटल काउंट की जांच हुई तो यह 10,000 हो गया। उन्होंने सवाल उठाया कि दो दिनों में टोटल काउंट 1400 कैसे कम हो गया? उन्होंने मेडॉल की जांच रिपोर्ट पर सवाल उठाया है।

भोला यादव ने यह भी आरोप लगाया कि चार मई को लालू यादव का यूरीन का रंग लाल था। तब उन्होंने डॉक्टरों से अनुरोध किया था कि उसकी जांच कराई जाय। इसके बाद टेस्ट सैंपल लिया गया लेकिन जब रिपोर्ट मांगी तो मेडॉल कह रहा है कि सैंपल नहीं मिल रहा है। भोला यादव ने बताया कि फिलहाल राजद अध्यक्ष की किडनी की बीमारी थर्ड स्टेज में है। अगर इसी तरह लापरवाही होती रही तो बीमारी फोर्थ स्टेज में पहुंच जाएगी।तब फिर डायलिसिस शुरू करना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App