ताज़ा खबर
 

लालू यादव के घर था कड़ा सुरक्षा पहरा फिर भी उड़ गए दोनो मोर, अब ढूंढ़ रहे बराहिल

लालू प्रसाद यादव की इच्छा पर उनके आवास में दो मोर को फॉरेस्ट विभाग के अधिकारियों ने पहुंचाया था।

Lalu Yadav, Lalu's Son, Lalu's elder son, Tejpratap yadav, Bihar Minister Tej pratap yadav,लालू प्रसाद यादव और उनके मंत्री बेटे तेज प्रताप यादव। (फाइल फोटो)

ऋचा रितेश
दो दिन पहले ही एक साधु के कहने पर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पटना स्थित आवास पर दो मोर लाए गए थे लेकिन दोनों मोर शनिवार की सुबह तड़के उड़ गए। विभागीय अधिकारियों के अलावे राजद अध्यक्ष के तमाम बराहिल भी परेशान हैं कि आखिर ये मोर कैसे उड़ गए और कहां गए होंगे? लेकिन सरकारी चिड़ियाघर के निदेशक नन्द किशोर का कहना है कि मोरों का गायब होना कोई गंभीर मसला नहीं है। नंद किशोर कहते हैं, ‘‘वे यहीं-कहीं आजू-बाजू में ही चहलकदमी करते हुए अपना इश्वरीय प्रदत कार्य कर रहे होगें। ऐसा नियम भी रहा है कि मोर को प्रोटेक्टेड एरिया में स्वतंत्र रूप से विचरण करने के लिए छोड़ दिया जाए ताकि वो हानिकारक कीड़े-मकोड़ों को खाकर साफ कर दें ताकि इकोलॉजिकल बैलेंस बना रहे।”

ऐसे में सवाल उठता है कि फिर विभाग इतनी बेसब्री से उनकी खोज क्यों कर रहा है? इस सवाल का कोई ठोस जवाब चिड़ियाघर के डायरेक्टर साहब के पास नहीं है। दरअसल, दबी जबान चर्चा है कि साहब के मौखिक आदेश पर दोनों परिंदो को आकाश के हवाले कर दिया गया है। मीडिया, खासतौर पर जनसता डाट काम में खबर छपने के बाद साहब थोड़ा असहज महसूस कर रहे थे। उन्हें आभास हो चुका था कि घर पर मोर रखना वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एक्ट का खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन है। इसलिए ज्यादा नहीं बोल रहे हैं क्योंकि इससे बेकार में विवाद पैदा होगा और विरोधियों को तिल का ताड़ बनाने का एक मौका मिल जाएगा।

मालूम हो कि लालू प्रसाद यादव की इच्छा पर उनके आवास में दो मोर को फॉरेस्ट विभाग के अधिकारियों ने पहुंचाया था। उनके किसी अध्यात्मिक गुरू ने सलाह दिया था कि सुबह-सबेरे मोर के दर्शन करने से कई शारीरिक तथा मानसिक रोगों का क्षय होता है। लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव राज्य के फॉरेस्ट मंत्री भी हैं। अतः नियम-कानून की परवाह किए बिना सम्बन्धित विभाग के पदाधिकारियों ने ‘डर से या प्रचंड चमचागिरी में’आदेश मिलते ही चंद मिनटों में लालू प्रसाद यादव की इच्छा को पूरा करते हुए उनके आवास पर मोर पहुंचा दिए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चारा घोटाले में बेउर जेल में बंद लालू यादव की सेवा करने वाले पुराने अधिकारी तब की सेवा के बदले अब मांग रहे मेवा
2 नीतीश राज में बिहार एसएससी का पर्चा फिर हुआ लीक, 2 से 10 हजार रुपये में खरीद रहे परीक्षार्थी
3 जेल अफसरों ने पेश की मिसाल, 22 कप चाय में हो गई शादी
ये पढ़ा क्या?
X