ताज़ा खबर
 

बेगूसराय : गंगास्नान के दौरान भगदड़, 3 की मौत

नीतीश ने इस हादसे को अत्यंत दुखद बताया और इस हादसे में मृत लोगों के परिजन के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करने के साथ दुख की इस घड़ी में मृतकों के शोक संतप्त परिजन को धैर्य देने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

Author बेगूसराय/पटना | November 5, 2017 03:32 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बिहार के बेगूसराय जिले के बरौनी थाने में सिमरिया घाट के पास कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गंगा नदी में स्नान के लिए गर्इं तीन वृद्ध महिलाओं की शनिवार सुबह हुई भगदड़ में मौत हो गई और छह अन्य लोग घायल हो गए। प्रशासन का कहना है कि रास्ता संकरा होने के कारण दम घुटने से इन महिलाओं की मौत हुई।  प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि भगदड़ के कारण यह हादसा हुआ जबकि अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) संजीव कुमार सिंघल ने बताया कि उन्हें मिली सूचना के अनुसार इन महिलाओं की मौत दम घुटने के कारण हुई। उधर,  बेगूसराय के पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार इन महिलाओं की मौत के पीछे भगदड़ को कारण मानने से इनकार कर रहे हैं। इस संबंध में सवाल पूछे जाने पर सिंघल ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही वे किसी अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचेंगे।

इस हादसे में मरने वालों में सीतामढ़ी जिला निवासी त्रिवेणी देवी (70), दरभंगा निवासी सकुती देवी (72) और नालंदा जिला निवासी कंचन देवी (75) शामिल हैं। हादसे में घायल हुए लोगों का इलाज कल्पास मेला परिसर में लगाए गए स्वास्थ्य शिविरों में किया गया।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सिमरिया घाट पर हुए इस हादसे पर गहरा दुख जताया। मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया कि नीतीश ने इस हादसे को अत्यंत दुखद बताया और इस हादसे में मृत लोगों के परिजन के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करने के साथ दुख की इस घड़ी में मृतकों के शोक संतप्त परिजन को धैर्य देने की ईश्वर से प्रार्थना की है।
मुख्यमंत्री ने प्रत्येक मृतक के परिजन को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने का निर्देश दिया है। उन्होंने हादसे में घायलों का निशुल्क और समुचित इलाज कराने का निर्देश दिया है। साथ ही उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन और पुलिस को सिमरिया घाट की व्यवस्था को कड़ी निगरानी में चुस्त-दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। सिमरिया कुंभ सेवा समिति ने भी मृतकों के आश्रितों को 50-50 हजार रूपये देने की घोषणा की है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App