scorecardresearch

पीएम पद के लिए कांग्रेस में एक लाख चेहरे हैं, नीतीश जी ऐसा फैसला लेंगे तो देश उनके साथ है, बोले पप्‍पू यादव

बिहारः पप्पू यादव का कहना था कि बीजेपी छत्तीसगढ़ और राजस्थान की तरह बिहार में कोई एकनाथ शिंदे पैदा नहीं कर पाई।

पीएम पद के लिए कांग्रेस में एक लाख चेहरे हैं, नीतीश जी ऐसा फैसला लेंगे तो देश उनके साथ है, बोले पप्‍पू यादव
मीडिया से बात करते जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव। (फोटो- ट्विटर एकाउंट)

बिहार के दबंग नेता पप्पू यादव का कहना है कि नीतीश जी को समझ लेना चाहिए कि बीजेपी उनको बख्शने वाली नहीं है। उन्हें फैसला लेना ही होगा। उनका कहना था कि आज वक्त है नीतीश के निर्णय लेने का। आज देश बीजेपी से ऊब चुका है। कांग्रेस अकेली बीजेपी के खिलाफ लड़ रही है। ऐसे में नीतीश को सोनिया गांधी से मशविरा करके अपना कदम आगे बढ़ाना चाहिए। उनका कहना था कि कांग्रेस में पीएम पद के 1 लाख चेहरे हैं। कांग्रेस के समर्थन के बगैर देश में विपक्ष की सरकार नहीं बनेगी। नीतीश अगर फैसला लें तो सारा देश उनके साथ खड़ा होगा।

पप्यू यादव ने कहा कि बिहार अस्थिर है, ये इस समय का सबसे बड़ा सवाल है। जब से सरकार बनी है तब से आयाराम गयाराम की स्थिति बन गई है। निचले स्तर के अधिकारी समझ नहीं पा रहे हैं कि कौन आएगा और कौन रहेगा। पहले से ही दिक्कत में चल रहे बिहार की हालत को बीजेपी ने और ज्यादा बदतर कर दिया।

शराबबंदी पर निशाना साध उन्होंने कहा कि कल सात आदमी शराब से मर गए। शराब की पार्टी में दो लोग मारे गए। लेकिन पुलिस कह रही है कि शराब की कोई पार्टी नहीं। छपरा में 13 की नहीं बल्कि 15 की मौत हो गई। उनके पास कफन तक के पैसे नहीं थे। पप्पू यादव ने ये पैसे अंतिम संस्कार के लिए दिए। सिवान में पुलिस ने एक युवा लड़के को पीट-पीटकर मार डाला।

उनका कहना था कि कोई काम करने को तैयार नहीं। पुलिस गुंडई पर उतरी गई है। केंद्र ने पहले ही बिहार के गर्त में डाल दिया है। न तो जीएसटी का पैसा मिला और न ही विशेष दर्जा। उनका कहना था कि नीतीश कुमार को या तो घोषणा करनी होगी कि सरकार अस्थिर है। उनका कहना था कि आज लोकतंत्र नहीं बचा है। सारे देश को केंद्रीय एजेंसियों से चलाया जा रहा है।

पप्पू यादव का कहना था कि बीजेपी छत्तीसगढ़ और राजस्थान की तरह बिहार में कोई एकनाथ शिंदे पैदा नहीं कर पाई। RCP के सवाल पर उनका कहना था कि नीतीश को चाहिए कि सारे मंत्रियों की संपत्ति की जांच कराएं। उनका कहना था कि नीतीश को पहले समझना चाहिए था कि RCP बीजेपी का मोहरा बन चुके थे।

उनका कहना था कि नीतीश ईमानदार हैं, इसमें कोई शक नहीं। वो चाहें कितने भी खराब हो जाएं पर उनके चरित्र पर सवाल नहीं है। उनका कहना था कि बीजेपी के मंत्री दूध के धुले नहीं हैं। बीजेपी जब हर जगह सरकार तोड़ रही है तो ईडी वहां जांच क्यों नहीं करती। वो विपक्ष के पीछे क्यों पड़ी है। सुप्रीम कोर्ट की आंखें सबके लिए क्यों नहीं खुलतीं।

पढें पटना (Patna News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट