Tej pratap yadav drove car and tejashwi was sitting on his side - VIDEO: छोटे भाई को बिठा तेज प्रताप ने चलाई कार, बोले- ये है महाभारत का रथ और मैं हूं तेजस्वी का सारथी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

VIDEO: छोटे भाई को बिठा तेज प्रताप ने चलाई कार, बोले- ये है महाभारत का रथ और मैं हूं तेजस्वी का सारथी

वीडियो में वह खुद छोटे भाई को बिठाकर कार चलाते हुए नजर आ रहे हैं। बातचीत में कार को महाभारत का रथ बताते हुए तेज प्रताप यादव बोले, 'यह महाभारत का रथ है और इसके सारथी हम हैं। मैं गाड़ी चलाऊंगा और मेरे छोटे भाई मेरे साथ आगे बैठेंगे।'

बिहार में लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) में मची घमासान अब शांत होती दिख रही है। लालू के दोनों बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच आई खटास की खबरों पर खुद तेज प्रताप ने रोक लगा दी थी और अब एक वीडियो भी सामने आया है, जो यह साबित करता है कि दोनों भाई राजनीतिक सफर में एक-दूसरे के साथ हैं। दरअसल, बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव का वीडियो वायरल हो रहा है।

वीडियो में वह खुद छोटे भाई को बिठाकर कार चलाते हुए नजर आ रहे हैं। बातचीत में कार को महाभारत का रथ बताते हुए तेज प्रताप यादव बोले, ‘यह महाभारत का रथ है और इसके सारथी हम हैं। मैं गाड़ी चलाऊंगा और मेरे छोटे भाई मेरे साथ आगे बैठेंगे। लड़ाई आज से शुरू होगी।’ तेजस्वी को बिठाकर गाड़ी चलाते हुए तेज प्रताव ने कहा कि वो लड़ाई के मैदान में जा रहे हैं, आज से लड़ाई चालू हो गई है। तेजस्वी तीर-कमान से उनके एक इशारे से दुश्मनों को धराशाई कर देंगे। इस बयान के जरिए तेज प्रताप ने अपने विरोधियों को यह संदेश दे दिया है कि वह हर कदम पर अपने छोटे भाई के साथ हैं।

बता दें कि कुछ दिन पहले आरजेडी के अंदर घमासान होने की खबरें आई थीं। तेज प्रताप ने कहा था कि पार्टी में कुछ ऐसे लोग हैं जो उनकी बात नहीं सुनते हैं, जिसके बाद बिहार के सबसे बड़े राजनीतिक घराने में सत्ता संघर्ष की कहानी बेपर्दा होने लगी थी। हालांकि बाद में तेज प्रताप ने खुद ट्वीट कर इस हंगामे के लिए संघीय लोगों को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा था, ‘संघीयों.., अफवाह फैलाने की कोशिश मत करो और कान खोलकर सुन लो ‘तेजस्वी मेरे कलेजे का टुकड़ा है।” वहीं तेज प्रताप ने इस ट्वीट के पहले ट्वीट कर कहा था कि वे राजनीतिक संन्यास लेने की सोच रहे हैं और वह अपने छोटे भाई को गद्दी सौंप कर द्वारका जाना चाह रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App