ताज़ा खबर
 

तेज प्रताप अब मां राबड़ी देवी से रहेंगे अलग, नीतीश सरकार ने अलॉट किया नया सरकारी बंगला

अपनी शादी के पांच महीने बाद ही उन्होंने अपनी पत्नी से तलाक लेने के लिए नवंबर में पटना कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल की थी। तेज प्रताप ने भी कहा था कि वह अपनी पत्ना एश्वर्या के साथ खुश नहीं हैं इसलिए उन्होंने तलाक की अर्जी दाखिल की है।

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव।

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेज प्रताप यादव को पटना में एक सरकारी बंगला आवंटित किया गया है, जिसे उन्होंने बिहार सरकार से मांगा था और कहा था कि वह राज्य में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए अपने मिशन पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं। अब वह बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और अपनी मां से अलग रहेंगे। तेज प्रताप यादव ने एएनआई से कहा कि, “क्या तेजस्वी (ताज प्रताप के छोटे भाई) का अलग निवास नहीं है? इससे पहले मैं 10, सर्कुलर रोड (बंगला को अपनी मां को पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में आवंटित बंगला) में नहीं रहता था, मैं कहीं और रहता था, मुझे अपनी लड़ाई पर ध्यान देना है। अगर मैं घर जाता हूं और घर पर बैठता हूं तो मैं लड़ाई कैसे जीत सकता हूं।”

उन्होंने पहले आरोप लगाया था कि उनके द्वारा किए गए नए आवेदन का जवाब नहीं दिया गया था। तेज प्रताप ने कहा था कि “मैंने एक या दो महीने पहले मुख्यमंत्री को लिखा था। मैंने भवन निर्माण विभाग मंत्री महेश्वर हजारी के साथ भी बात की, लेकिन मुझे अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।” 29 साल के तेज प्रताप अक्सर असामान्य कारणों के न्यूज में होते हैं। वह भगवान शिव के रूप में तैयार हुए थे, पिछले क्रिसमस पर घोड़े पर सवार हुए थे, सोशल मीडिया पर उनकी ऐसी फोटो भी आई थीं। साइकिल रेस के दौरान जमीन पर गिर गए और नीतीश कुमार की कैबिनेट में शपथ लेने के दौरान भी एक गलती हुई थी।

अपनी शादी के पांच महीने बाद ही उन्होंने अपनी पत्नी से तलाक लेने के लिए नवंबर में पटना कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल की थी। तेज प्रताप के वकील यशवंत कुमार शर्मा ने बताया था कि अब वह दोनों एक साथ नहीं रह सकते हैं, इसलिए उन्होंने अलग होने का फैसला किया। बाद में तेज प्रताप ने भी कहा था कि वह अपनी पत्ना एश्वर्या के साथ खुश नहीं हैं इसलिए उन्होंने तलाक की अर्जी दाखिल की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App