ताज़ा खबर
 

सुशील मोदी ने बेटे का विवाह समारोह स्थल बदला, तेज प्रताप ने दी थी घुसकर मारने की धमकी

सुशील ने कहा था कि उन्हें लगता है कि तेज प्रताप को गुस्सा इस बात का है कि उनके कारण स्वास्थ्य मंत्री का पद उन्हें खोना पडा।

Author November 26, 2017 12:17 AM
बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी।

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सुरक्षा कारणों से अपने पुत्र उत्कर्ष के विवाह समारोह स्थल को बदल दिया है। उपमुख्यमंत्री के सचिव शैलेन्द्र कुमार ओझा ने आज यहां एक प्रेस विज्ञप्ति जारी बताया कि कुछ नेताओं की आपत्तिजनक टिप्पणियां और दी जा रही धमकियों के मद्देनजर सुरक्षा कारणों से उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के पुत्र उत्कर्ष-यामिनी के विवाह समारोह के स्थल में परिवर्तन किया गया है। उन्होंने बताया कि पहले शादी समारोह आगामी 3 दिसम्बर को अपराह्न 03 से 05 बजे राजेन्द्र नगर स्थित शाखा मैदान से होना तय था जिसे अब परिर्वितत कर पटना एयरपोर्ट के नजदीक वेटनरी कालेज मैदान कर दिया गया है। सभी आमंत्रितों को इसकी संशोधित सूचना दी जा रही है।  शैलेन्द्र ने बताया कि इससे पहले शादी समारोह उपमुख्यमंत्री के नाते सुशील कुमार मोदी को आवंटित 5, देशरत्न मार्ग स्थित आवास से करने पर विचार किया गया था मगर पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव द्वारा आवास खाली नहीं किए जाने पर बिहार विधान परिषद के सभापति को आवंटित 3, देशरत्न मार्ग से करना तय किया गया जिसे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने खाली करने के बाद दुबारा उसमें अवैध रूप से प्रवेश कर लिया। अत: उपरोक्त परिस्थितियों में उपमुख्यमंत्री के पुत्र के शादी समारोह के स्थल में परिवर्तन करना पड़ा है।

गत 22 नवंबर को तेज प्रताप यादव का सुशील कुमार मोदी के पुत्र के शादी समारोह में विध्न डालने की धमकी वाले वीडियो के जारी होने पर सुशील ने कहा था कि इसके लिए लालू जी को क्षमा मांगनी चाहिए तथा उन्हें एलान करना चाहिए कि ऐसा कुछ घटित नहीं होगा। सुशील ने कहा था कि उन्हें लगता है कि तेज प्रताप को गुस्सा इस बात का है कि उनके कारण स्वास्थ्य मंत्री का पद उन्हें खोना पडा। बडी मुश्किल से सत्ता में आए थे, सत्ता से बाहर हो गए। उसका गुस्सा मेरे बेटे की शादी में उतार रहे हैं जो बहुत ही दुखद है। उल्लेखनीय है कि सुशील के पुत्र उत्कर्ष मोदी की शादी इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है। बिहार सरकार के दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान छेडे जाने के बीच सुशील ने अपने पुत्र की शादी बिना गाजे बाजे एवं तामझाम के सरल ढंग से रात्रि के बजाय दिन में करने तथा शादी में आने वालों को तोहफा के तौर पर कुछ भी नहीं लाने एवं अतिथियों को भोजन के स्थान पर प्रसाद वितरित किए जाने की घोषणा की है।
सुशील ने कल ट्विट कर आरोप लगाया था कि लालू प्रसाद अपने बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव के आपत्तिजनक बयान पर खेद प्रकट करने के बजाय यह बता रहे हैं कि हमें क्या करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App