ताज़ा खबर
 

बीपीएल कार्डधारी नौकर ने राबड़ी देवी को पटना में गिफ्ट की एक करोड़ की जमीन- लालू यादव की बेनामी संपत्ति पर सुशील मोदी का नया आरोप

सुशील मोदी ने कहा, 'जिस संपत्ति को लालू को गिफ्ट किया गया है वो वैसा ही है जैसे एक सरोगेट मां करती है, वो दूसरे के बच्चे को अपने कोख में रखती है, इस नौकर ने लालू यादव की जायदाद को अपने नाम पर रखा।'

सुशील मोदी ने कहा कि लालू यादव नौकरों का इस्तेमाल सरोगेट की तरह करते हैं।

बिहार बीजेपी के नेता सुशील मोदी ने आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर फिर से गंभीर आरोप लगाये हैं। सुशील मोदी ने कहा है कि लालू प्रसाद यादव के नौकर ने पटना में करोड़ों रुपये की जमीन बतौर गिफ़्ट राबड़ी देवी और लालू-राबड़ी की पांचवीं बेटी हेमा यादव को दी है। लालू यादव के इस नौकर का नाम लल्लन चौधरी है। आश्चर्य की बात ये हैं कि लालू के परिवार को लगभग एक करोड़ रुपये का जमीन गिफ़्ट करने वाला लल्लन चौधरी बीपीएल कार्डधारी है यानी कि वह अपना जीवन यापन बेहद गरीबी से करता है।

सुशील मोदी ने मंगलवार (13 जून) को कहा है कि लालू यादव इन नौकरों का इस्तेमाल सरोगेट की तरह कर रहे हैं। सुशील मोदी ने कहा, ‘जिस संपत्ति को लालू को गिफ्ट किया गया है वो वैसा ही है जैसे एक सरोगेट मां करती है, वो दूसरे के बच्चे को अपने कोख में रखती है, इस नौकर ने लालू यादव की जायदाद को अपने नाम पर रखा।’ सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि लालू यादव ने 2014 में अपने नौकर लल्लन चौधरी के मार्फत से लगभग एक करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति अपनी पत्नी राबड़ी देवी और बेटी हेमा यादव के नाम हस्तांतरित करवाई।

सुशील मोदी ने कहा कि एक रेलवे खलासी हिरदायनंद ने भी लालू की बेटी हेमा को पटना शहर में स्थित 70 लाख रुपये की ज़मीन दान कर दी। सुशील मोदी ने ट्वीट किया, ‘तत्कालीन रेल मंत्री लालू यादव द्वारा 2005 में नियुक्त रेल खलासी ने 70 लाख रुपये की जमीन लालू की बेटी को दान को कर दी, बिहार में बहार है?’ सुशील मोदी ने एक दूसरे ट्वीट में लिखा कि लालू की बेटी को 5 करोड़ की जमीन दान करने वाले दोनों बीपीएल कार्ड होल्डर और रेलवे खलासी ने एक ही दिन जमीन खरीदी और एक ही दिन दान कर दिया। सुशील मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस पूरे मामले की जांच की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App